Search
Close this search box.

MP समाचार: इंदौर के कांग्रेस प्रत्याशी ने नामांकन वापस लिया, कैलाश ने कार में साथ बैठकर कांग्रेस प्रत्याशी Akshay Bam को भाजपा में किया स्वागत {29-04-2024}

MP समाचार: इंदौर के कांग्रेस प्रत्याशी ने नामांकन वापस लिया, कैलाश ने कार में साथ बैठकर कांग्रेस प्रत्याशी Akshay Bam को भाजपा में किया स्वागत

कांग्रेस के इंदौर के उम्मीदवार अक्षय बम ने अपना नाम वापस ले लिया है। वे चुनाव में अब नहीं हैं। विधानसभा चुनाव में उन्होंने चार नंबर की सीट से टिकट मांगा था, लेकिन तब उन्हें कांग्रेस ने टिकट नहीं दिया।

MP समाचार: इंदौर के कांग्रेस प्रत्याशी ने नामांकन वापस लिया, कैलाश ने कार में साथ बैठकर कांग्रेस प्रत्याशी Akshay Bam को भाजपा में किया स्वागत

इस बार उन्हें लोकसभा प्रत्याशी बनाया गया था।मध्य प्रदेश में लोकसभा चुनाव के दो चरण खत्म होने के बाद कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है। कांग्रेस के लोकसभा प्रत्याशी अक्षय बम ने इंदौर, प्रदेश अध्यक्ष जीतू पटवारी की जन्मभूमि से अपना नाम वापस ले लिया है। यही कारण है कि वे चुनावी मैदान से बाहर चले गए हैं, इसलिए इस क्षेत्र में भाजपा की जीत निश्चित है।

कांग्रेस प्रत्याशी अक्षय बम सोमवार को कलेक्टर कार्यालय में भाजपा विधायक रमेश मेंदोला के साथ पहुंचे और अपना नाम वापस ले लिया। भाजपा उम्मीदवार शंकर लालवानी को अब इंदौर में कोई बड़ी चुनौती नहीं है। अक्षय ने इससे पहले हुए चुनाव में चार नंबर सीट से टिकट मांगा था। तब कांग्रेस ने उन्हें टिकट नहीं दिया था। कांग्रेस ने उन्हें लोकसभा चुनाव में अपना प्रत्याशी बनाया था।

कैलाश विजयवर्गीय ने सोमवार सुबह कांग्रेस प्रत्याक्षी अक्षय बम को कलेक्टर कार्यालय में देखा। भाजपा विधायक रमेश मेंदोला और एमआईसी मेंबर जीतू यादव भी उनके साथ थे। अक्षय ने नाम वापस लिया और मेंदोला के साथ कार्यालय से चले गए। मंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने कुछ देर बाद फेसबुक पर अक्षय के साथ फोटो पोस्ट करते हुए भाजपा में उनका स्वागत किया। अक्षय को लेकर वे सीधे भाजपा कार्यालय गए। कांग्रेस नेता अचानक बम नामांकन वापस लेने से नाराज हैं और अपने घरों के बाहर प्रदर्शन कर रहे हैं।

विजयवर्गीय ने कहा कि आपको भाजपा में स्वागत है

कांग्रेस प्रत्याशी बम का नामांकन वापस लेने पर मंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने एक्स कर लिखा कि इंदौर से कांग्रेस के लोकसभा प्रत्याशी अक्षय कांति बम का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, मुख्यमंत्री डॉक्टर मोहन यादव और प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा के नेतृत्व में भाजपा में स्वागत है।कांग्रेस प्रत्याशी अक्षय बम के 17 साल पुराने हत्या के प्रयास के मामले में, पुलिस ने नामांकन वाले दिन दो हत्या के प्रयास की धारा जोड़ी। भाजपा ने बम नामांकन को वापस लेने की मांग की क्योंकि अक्षय ने शपथ पत्र में इसका उल्लेख नहीं किया था। लेकिन भाजपा की आपत्ति को जिला निर्वाचन अधिकारी आशीष सिंह ने खारिज कर दिया था। 10 मई को बम इस मामले में कोर्ट में पेश होना है।

कांग्रेस छोड़कर भाजपा में आए अक्षय बम के घर पर पुलिस है। पुलिस को शक है कि कांग्रेस कार्यकर्ता बम निवास पर हमला कर सकते हैं।पुलिस तैनात की गई है ताकि इस दौरान हिंसा न हो।

तीन नाम वापस, अब अधिक

कलेक्टर आशीष सिंह ने बताया कि कांग्रेस प्रत्याशी अक्षय बम सहित तीन उम्मीदवारों ने नामांकन फार्म वापस लिए हैं। नाम वापसी आज दोपहर तीन बजे तक जारी रहेगी। हालाँकि, इंदौर में अब भी 23 उम्मीदवार हैं। लेकिन सूत्रों का कहना है कि कई और उम्मीदवार तीन बजे तक अपने नाम वापस लेंगे।

कांग्रेस पर भी उम्मीदवारों का भरोसा नहीं: पूर्व प्रधानमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कांग्रेस के नेताओं और कार्यकर्ताओं का भरोसा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा पर है। कांग्रेस में उम्मीदवार भी पार्टी में रहना नहीं चाहते हैं।भाजपा आज इंदौर के उम्मीदवार को अपनाया। कांग्रेस देश को बर्बाद करने की ओर बढ़ रही है, इसलिए अब उसके उम्मीदवार भी भाजपा से जुड़ रहे हैं।

इंदौर कांग्रेस मुक्त है, भाजपा प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा ने सोशल मीडिया पर पोस्ट किया कि मध्यप्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष जीतू पटवारी का जन्मस्थान है। कांग्रेस क्षेत्र से गायब हो गई। कांग्रेस का उम्मीदवार वापस आ गया। देश और राज्य का बड़ा दावा करने वाले पटवारी इंदौर में कांग्रेस की हालत देखें। अब जीतू पटवारी को अपने पद से त्याग देना चाहिए।

कांग्रेस पार्टी: कांग्रेस मीडिया प्रभारी मुकेश नायक ने अक्षय कांति बम के नाम वापसी पर कहा कि हमारा संघर्ष षड्यंत्रकारी और एकाधिकार वाली पार्टी से है।और भी ऐसी घटनाएं होनी चाहिए। भाजपा से हमारी लड़ाई है। थोड़े-बहुत आस्तीन के सांप बचे हुए हैं; पूरा विष बाहर निकल जाएगा।

भाजपा मीडिया प्रभारी आशीष अग्रवाल ने सोशल मीडिया पर लिखा कि इंदौर में कांग्रेस को कोई प्रत्याशी नहीं था। कांग्रेस के उम्मीदवार डॉ. अक्षय कांति बम ने अपना नामांकन वापस लिया। भाजपा ने अबकी बार 400 पार कर लिया, चुनाव से पहले ही कांग्रेस को हराया।

यह भी पढ़े:-

लोकसभा निर्वाचन: कांग्रेस को एक और बड़ा झटका लगा, अरविंदर सिंह लवली ने दिल्ली विधानसभा अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया
दिल्ली कांग्रेस को सूचित किया गया है कि लवली ने अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया है। कई दिन से वह राज्य कार्यालय नहीं आया था। वह उत्तर पश्चिमी दिल्ली से राजकुमार चौहान को टिकट नहीं मिलने से परेशान थे। साथ ही, लवली ने AAP से गठबंधन को पार्टी की मुख्य चिंता का कारण बताया है।पुरा पढ़े

Spread the love
What does "money" mean to you?
  • Add your answer