Search
Close this search box.

हिसार लोकसभा सीट से भाजपा के उम्मीदवार रणजीत चौटाला ने ब्राह्मणों को लेकर एक बयान दिया {31-03-2024}

हिसार लोकसभा सीट से भाजपा के उम्मीदवार रणजीत चौटाला ने ब्राह्मणों को लेकर एक बयान दिया

हिसार लोकसभा सीट से भाजपा के उम्मीदवार रणजीत चौटाला ने ब्राह्मणों को लेकर एक बयान दिया, जिसमें उन्होंने राजनीतिक और सामाजिक बहिष्कार का आह्वान किया। जो समाज को परेशान कर रहा है। राजकुमार भारद्वाज की अध्यक्षता में आज ब्राह्मण धर्मशाला में जिला ब्राह्मण सभा की कार्यकारिणी की बैठक हुई।

हिसार लोकसभा सीट से भाजपा के उम्मीदवार रणजीत चौटाला ने ब्राह्मणों को लेकर एक बयान दिया

जिला ब्राह्मण सभा ने हिसार लोकसभा सीट से भाजपा उम्मीदवार रणजीत चौटाला के विवादित बयान को लेकर उनका राजनीतिक और सामाजिक बहिष्कार कर दिया है। सभा ने स्पष्ट रूप से कहा कि रणजीत चौटाला अपने बयान पर माफी मांगने तक उनका विरोध जारी रहेगा। रणजीत चौटाला ने अपने बयान में उल्लेख किया हैकि ब्राह्मणों ने हमेशा समाज को जातीय आधार पर बांट दिया है।

जिला ब्राह्मण सभा की कार्यकारिणी की आज ब्राह्मण धर्मशाला में प्रधान राजकुमार भारद्वाज की अध्यक्षता में हुई एक बैठक में विवादित बयान पर व्यापक रोष व्यक्त हुआ। भाजपा नेता रणजीत चौटाला ने बैठक में दिए गए बयान पर भारी रोष प्रकट हुआ। सभा ने इस अवसर पर कहा कि ब्राह्मण समाज ने हमेशा सभी को एकजुट करने और भाईचारे का काम किया है। सभा ने रणजीत चौटाला के बयान का तीव्र विरोध किया, जिसमें उन्होंने कहा कि ब्राह्मण समाज ने जात पात को हमेशा जहर देने का काम किया है।

सभा ने कहा कि रणजीत चौटाला को राजनीतिक और सामाजिक बहिष्कार करते हैं, इस विवादित बयान के कारण। सभा 4 अप्रैल को बैठक कर एक बड़ा निर्णय लेगी अगर रणजीत चौटाला जल्द ही इस विवादित बयान को लेकर माफी नहीं मांगता। साथ ही, बैठक ने पूरे समाज से इस मुद्दे पर एकजुट होने का आह्वान किया है ताकि कोई भी इस तरह की विवादित घोषणा करने की हिम्मत नहीं कर सके। इस अवसर पर राजेंद्र अग्निहोत्री, जगत शर्मा, छाजराम, जगदीश शास्त्री, डॉ. सज्जन, मनोज शर्मा, पवन, कुलभूषण और अन्य लोग उपस्थित थे।

यह भी पढ़े:-

25 मई को संबलपुर लोकसभा सीट पर छठे चरण में मतदान होगा

25 मई को संबलपुर लोकसभा सीट पर छठे चरण में मतदान होगा, जहां धर्मेंद्र प्रधान बीजद के नेता प्रणब दास से कड़ी टक्कर होगी। संबलपुर सीट भी अलग है क्योंकि कोई भी पार्टी इसे किसी भी पार्टी का गढ़ नहीं मान सकती है। पिछले तीन चुनावों में प्रत्येक वर्ष एक अलग पार्टी के उम्मीदवारों ने जीत हासिल की थी।पुरा पढ़े

Spread the love
What does "money" mean to you?
  • Add your answer

Recent Post