Search
Close this search box.

Haryana राज्य: शराब मामला; मरने वाले 11 में से नौ लोगों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मिथाइल एल्कोहल की मौत की वजह {28-02-2024}

Haryana राज्य: शराब मामला; मरने वाले 11 में से नौ लोगों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मिथाइल एल्कोहल की मौत की वजह बताई गई है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट ने कुछ बताया है। नवंबर 2023 में यमुनानगर में 18 और अंबाला में दो लोग मर गए।

 मरने वाले 11 में से नौ लोगों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मिथाइल एल्कोहल
मरने वाले 11 में से नौ लोगों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मिथाइल एल्कोहल

 मरने वाले 11 में से नौ लोगों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मिथाइल एल्कोहल की मौत की वजह

गत वर्ष दीपावली से ठीक पहले हरियाणा के यमुनानगर जिले में जहरीली शराब पीने से 18 लोगों की मौत हो गई थी। शराब में मिलाया गया मिथाइल एल्कोहल लोगों को मार डाला। शराब पीने से मरने वाले लोगों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में यह बात सामने आई है।

नवंबर 2023 में, मृतकों का विसरा और अन्य सैंपल स्वास्थ्य विभाग से जांच के लिए लैब में भेजे गए। मृतकों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट अब वहां से आई है। पुलिस ने ग्यारह मरने वालों का पोस्टमार्टम कराया था। इनमें से नौ की सूचना दी गई है। दो की रिपोर्ट जल्दी आ सकती है।

मिथाइल स्वास्थ्य के लिए घातक है। फिर भी, बदमाश मिथाइल एल्कोहल को मिलाकर शराब बनाकर बेचते हैं। इस केमिकल से निर्मित शराब ने यमुनानगर में 18 और अंबाला जिले में दो लोगों की जान ले दी थी। आठ नवंबर को, जिले में जहरीली शराब पीने से पहले दिन, नगर निगम के वार्ड 19 के मंडेबरी में चार और साथ लगते पंजेटो माजरा में दो लोग मारे गए। लोगों का मानना था कि इन मौतों का कारण बुखार था।

सभी को बिना पोस्टमार्टम के अंतिम संस्कार करवाया गया था। बाद में पंजेटों का माजरा, फूंसगढ़, सारन और बिलासपुर के मंगलौर गांव में लोगों की मौत होने लगी, जिसकी वजह जहरीली शराब थी। श्मशान घाट में, जिन लोगों का अंतिम संस्कार बिना पोस्टमार्टम के हुआ था, एफएसएल टीम ने चिता से उनकी अस्थियों के सैंपल लिए थे।

शराब पीने से मरने के बाद, मंडेबरी के लोगों ने पीर माजरा गांव के रॉकी पर गांव में शराब बेचने का आरोप लगाया। पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया था और उसे गिरफ्तार कर लिया था। तीन मामले पुलिस थाना फर्कपुर, थाना छप्पर और थाना बिलासपुर में दर्ज किए गए थे।गिरफ्तार रॉकी ने बताया कि वह शराब को फूंसगढ़ से गांव में बेचने के लिए एक ठेके से लाता था।

एक के बाद पुलिस ने मामले में 23 आरोपियों को गिरफ्तार किया। आरोपियों ने अंबाला के धनौरा में नकली शराब बनाने का कारखाना बनाया था। वहीं शराब ठेके पर दी जाती थी। महेंद्र सिंह कांबाेज फूंसगढ़ ठेके का लाइसेंस था। कांग्रेस प्रदेश कमेटी के सदस्य राम मारूपुर, अमरनाथ, सुशील और टिंकू सहित एक प्रमुख सत्ता दल के नेता का बेटा गौरव बुबका इस ठेके में प्रमुख हिस्सेदार थे। गैंगस्टर मोनू राणा ने मोगली के साथ मिलकर ठेके पर पैसा लगाया था। महेंद्र सिंह को ग्यारह जोन में 22 ठेके मिले। जिनके लाइसेंस को आबकारी विभाग ने रद्द कर दिया था और फिर से नीलामी की गई थी।

मौत को जन्म देता है असली शराब में इथेनॉल और मिथाइल एल्कोहल मिलाया जाता है। जबकि नकली शराब में मिथाइल है। शराब में मिथाइल की अधिक मात्रा से जहर बनता है। जो मर सकता है। इसके अलावा, आप अंधे हो सकते हैं, उल्टी कर सकते हैं, कोमा में जा सकते हैं या सांस लेने की बीमारी भी हो सकती है।

10 ग्राम से अधिक मात्रा में खाने से स्थायी अंधापन, केंद्रीय तंत्रिका तंत्र विषाक्तता, कोमा और यहां तक कि मृत्यु हो सकती है। मृतक के शरीर में मिथाइल का सेवन करने से पोस्टमार्टम स्टेनिंग नीला हो जाता है।
जहरीली शराब पीने से मरने वाले नौ लोगों का पोस्टमार्टम रिपोर्ट किया गया है। रिपोर्ट में मिथाइल एल्कोहल को मौत का कारण बताया गया है। शरीर को इससे नुकसान होता है। रिपोर्ट पुलिस विभाग को सूचित कर दी गई है। डॉ. दिव्या मंगला, मुकंद लाल जिला नागरिक अस्पताल की पीएमओ |

यह भी पढ़े:-

हुक्का परोसना और हुक्का बार खोलना अपराध होगा

Hariyana: बजट सत्र में हरियाणा सरकार नया कानून लाने जा रही है जिसके तहत हुक्का परोसना और हुक्का बार खोलना अपराध होगा, जिसके उल्लंघन पर तीन साल की सजा और पांच लाख की सजा होगी। पुरा पढ़े

Spread the love
What does "money" mean to you?
  • Add your answer