Search
Close this search box.

इसरो: गगनयान मिशन – भारत का पहला ह्यूमन स्पेस मिशन

ISRO: सीई20 क्रायोजेनिक इंजन, जो मानवरहित मिशन के लिए भी मंजूर किया गया है, गगनयान मिशन भारत का पहला ह्यूमन स्पेस मिशन है। यह मिशन भारत के लिए बहुत खास है क्योंकि अगर यह सफल होता है, तो भारत अमेरिका, चीन और रूस के बाद चौथा देश बन जाएगा।

गगनयान मिशन - भारत का पहला ह्यूमन स्पेस मिशन

चंद्रयान-3 मिशन की सफलता के बाद गगनयान मिशन पर काम जल्दी शुरू हुआ है। भारत का पहला ह्यूमन स्पेस मिशन गगनयान है। यह मिशन भारत के लिए बहुत खास है क्योंकि अगर यह सफल होता है, तो भारत अमेरिका, चीन और रूस के बाद चौथा देश बन जाएगा। इसरो ने इस दिशा में एक और महत्वपूर्ण कदम उठाया।उसने नई जानकारी दी, जो सीई20 क्रायोजेनिक इंजन को गगनयान मिशन के लिए पूरी तरह से तैयार करती है।

इंजन की क्षमता का विश्लेषण

‘सीई20 क्रायोजेनिक इंजन अब गगनयान मिशन के लिए एकदम तैयार है,’ इसरो ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर बताया। कठोर परीक्षण इंजन की क्षमता निर्धारित करता है। स्वीकृति परीक्षणों से भी गुजरना पड़ा था सीई20 क्रायोजेनिक इंजन, जो पहली मानव रहित उड़ान LVM3 G1 के लिए बनाया गया था। ‘

2024 गगनयान मिशन की तैयारियों का वर्ष होगा, जैसा कि भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी के चेयरमैन एस सोमनाथ ने नव वर्ष की शुरुआत में घोषित किया था। हम पैराशूट सिस्टम की जांच भी हेलीकॉप्टर से करेंगे।ऐसे कई ड्रॉप टेस्ट होंगे। इनके अलावा, वैल्यूएशन परीक्षण भी होंगे। साथ ही, इस साल हम GSV भी लांच करेंगे। इसरो प्रमुख ने कहा कि हमने इस साल (2024) में कम से कम बारह मिशन शुरू करने का लक्ष्य रखा है। हार्डवेयर की उपलब्धता इस संख्या को बढ़ भी सकती है।

क्या है गगनयान मिशन?

आपको बता दें कि इसरो इंसानों को अंतरिक्ष में भेजने के लिए तैयार है। तीन सदस्यों की टीम को इस मिशन के दौरान अंतरिक्ष में पृथ्वी की निचली कक्षा में भेजा जाएगा और फिर सुरक्षित पृथ्वी पर वापस उतारा जाएगा। इस अभियान को 2025 में शुरू करने का लक्ष्य है। यह मिशन पहले 2022 में लॉन्च होना था, लेकिन कोरोना वायरस की महामारी और मिशन में उत्पन्न हुई कठिनाइयों के कारण इसे रद्द कर दिया गया। भारत, अमेरिका, चीन और सोवियत संघ के बाद इसरो का गगनयान मिशन सफल होने पर चौथा देश बन जाएगा।

यह भी पढ़े:-

संदेशखाली हिंसा: पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना जिले में स्थित गांव संदेशखाली

संदेशखाली हिंसा: पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना जिले में स्थित गांव संदेशखाली इन दिनों व्यापक विरोध प्रदर्शन का गवाह बन रहा है, जहां सुवेंदु अधिकारी और वृंदा करात को संदेशखाली जाने से रोका गया है और भाजपा नेता बीच सड़क धरने पर बैठे हैं। पुरा पढ़े

Spread the love
What does "money" mean to you?
  • Add your answer

Recent Post