Search
Close this search box.

बुड़ैल जेल में आरपीजी हमले के आरोपी का मोबाइल बरामद: जानिए दीपक उर्फ रंगा की कहानी{19-12-2023}

जेल से बाहर मोबाइल छुपाने वाले कैदियों की साज़िशें

 बुड़ैल जेल में आरपीजी हमले के आरोपी का मोबाइल बरामद

बुड़ैल जेल में बंद मोहाली आरपीजी हमले के आरोपी से मिला मोबाइल, जांच में जुटी पुलिस सूत्रों ने बताया कि जेल से बाहर आने वाले कैदी अक्सर छोटे मोबाइल या ड्रग्स छिपाते हैं। दीपक का मोबाइल भी नंबरों वाला छोटा चाइनीज फोन है।

आरपीजी हमले के आरोपी पर धारा 52-A(1) के तहत केस दर्ज

मोहाली स्थित पंजाब पुलिस के खुफिया मुख्यालय पर आरपीजी हमले और सेक्टर-15 के एक पीजी में घुसकर दो लोगों की हत्या करने के आरोपी दीपक उर्फ रंगा (24) का मोबाइल फोन बुड़ैल जेल में मिला। प्रिजन (पंजाब अमेंडमेंट) एक्ट 2011 की धारा 52-A(1) के तहत सेक्टर-49 थाना पुलिस ने रंगा के खिलाफ केस दर्ज किया है। शिकायतकर्ता प्रवीण कुमार हैं, सीपीएस।

मोबाइल फोन का संदेह, तलाशी और जांच की प्रक्रिया

मुख्यतः झज्जर (हरियाणा) जिले का गांव सुरखपुर में रहने वाला दीपक शार्प शूटर है। जेल प्रशासन को शक था कि शायद उसके पास मोबाइल फोन था। 17 दिसंबर को बैरक नंबर 9 में एक दीपक को संदेह के आधार पर तलाशी लेने पर मोबाइल फोन बरामद हुआ। अब पुलिस जांच कर रही है कि आरोपी ने जेल में मोबाइल फोन कैसे हासिल किया और उससे कहां-कहां और कितनी बार कॉल की है।

सूत्रों ने बताया कि पेशी से आने वाले कैदी अक्सर शरीर में ड्रग्स या छोटे मोबाइल छिपाते हैं। दीपक का मोबाइल भी नंबरों वाला छोटा चाइनीज फोन है। 2019 में बुड़ैल में सोनू शाह हत्याकांड में दीपक का नाम भी सामने आया था।आरोप है कि वह भी वारदात के बाद आतंक फैलाने के लिए हवाई फायरिंग की थी।

रंगा के जुड़े हुए कई हत्याकांडों की चर्चा

राणा कंदोवालिया की हत्या में भी शामिल था राणा कंदोवालिया की हत्या भी रंगा दीपक रंगा से जुड़ी हुई थी। लॉरेंस के निर्देश पर दीपक रंगा ने राणा कंदोवालिया को केडी अस्पताल, अमृतसर में हैप्पी और सोनू डागर की हत्या की थी। बाद में दीपक रंगा ने आतंकी रिंदा से संपर्क किया और उसके कहने पर संजय बियानी नामक एक नाबालिग आरोपी की हत्या की थी, जो महाराष्ट्र में हुआ था।

सत्ता की भूख: रंगा का जुड़ाव लॉरेंस बिश्नोई और राजू बसौदी के साथ

अमृतसर पुलिस से प्राप्त उत्पादन वारंट पर पूछताछ में रंगा ने स्वीकार किया कि गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई और राजू बसौदी के कहने पर उसने राजन, मंजीत मोटा,शुभम बिगनी और अभिषेक उर्फ बंटी ने 28 सितंबर 2019 को बुड़ैल में सोनू शाह को मार डाला था। इस मामले में, चंडीगढ़ पुलिस ने उसे अमृतसर की सेंट्रल जेल से उत्पादन वारंट पर पूछताछ के लिए लाया था।

2019 में दीपक ने सोनू शाह की हत्या के अलावा चंडीगढ़ सेक्टर-15 में दो कॉलेज छात्रों को गोली मार दी थी। सूत्रों के अनुसार, उसे इसके लिए दो से तीन लाख रुपये मिले थे। वहीं, मोहाली आरपीजी हमले के लिए उसे आतंकी रिंदा से 10 से 15 लाख रुपये मिले थे।

यह भी पढ़े:-

लापरवाही से नाराज: विज ने फोन पर दी खुली धमकी:-

हत्या का मामला: एसपी को सख्त निर्देश

लापरवाही से नाराज विज: SP हिसार को फोन पर निर्देश दिए गए विज ने शिकायत पर लापरवाही पर खुले दरबार से एसपी को फोन किया। विज के दरबार में कई मामले आए, जिनमें अलग-अलग जिलों की पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की।

खबर को पुरा पढ़ने के लिए click करे:-rashtriyabharatmanisamachar

Spread the love
What does "money" mean to you?
  • Add your answer