Search
Close this search box.

भारत-पाक संबंध: साजिद तरार का दिलचस्प नजरिया और सुझाव {15-12-2023}

साजिद तरार का कहना: ‘मैं कई बार भारत गया हूं, और मेरा भारत से एक मजबूत रिश्ता :-

पाक-भारत संबंध में सुधार: साजिद तरार के सुझाव

Tarar ने कहा, “मैं कई बार भारत गया हूं और मेरा भारत से एक मजबूत रिश्ता है।” भारत में वे बहुत लोकप्रिय हैं। हम सैकड़ों वर्षों से इस उपमहाद्वीप में रहते आए हैं।”

भारत में स्थापित व्यापारिक बातचीत: साजिद तरार की राय:-

पाकिस्तान के नेतृत्व को इस चिंता से मुक्ति मिलनी चाहिए कि अगर वे भारत से अपने संबंधों को सुधारेंगे तो इससे उनकी राजनीतिक छवि खराब हो जाएगी। यह एक पाकिस्तानी-अमेरिकी बिजनेसमैन साजिद तरार ने कहा है। साजिद तरार ने दोनों देशों के बीच अच्छे संबंधों का पक्ष लिया। साजिद तरार ने एक इंटरव्यू में कहा कि अब पाकिस्तान के पाले में गेंद है कि वह भारत से अच्छे रिश्ते बनाए। प्रधानमंत्री मोदी एक सशक्त नेता हैं।”

प्रधानमंत्री मोदी की बहादुरी: ‘उन्होंने पाकिस्तान को दिखाया नया रास्ता:-

प्रधानमंत्री मोदी ने पाकिस्तान जाकर बड़ा कदम उठाया, साजिद तरार ने उसने कहा कि वह (पीएम मोदी) पूर्व में पाकिस्तान गए थे और पाकिस्तान के तत्कालीन प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के घर गए थे, जो एक बड़ा राजनीतिक जोखिम था। यह एक बहुत बड़ा बदलाव था। मैं उनके उत्कृष्ट नेता का आदर करता हूँ।याद रखें कि साजिद तरार अमेरिकन मुस्लिम संगठन का संस्थापक हैं और अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का समर्थक हैं। Tarar ने कहा, “मैं कई बार भारत गया हूं और मेरा भारत से एक मजबूत रिश्ता है।” भारत में वे बहुत लोकप्रिय हैं। हम सैकड़ों वर्षों से इस उपमहाद्वीप में रहते आए हैं।”

“पाक-भारत संबंध में सुधार: साजिद तरार के सुझाव:-

अमेरिकी बिजनेसमैन ने कहा, “पाकिस्तान को भारत से रिश्ते सुधारने ही पड़ेंगे,” और कहा, “पाकिस्तानी नेतृत्व को बड़ा कदम उठाते हुए भारत से व्यापार और पर्यटन को बढ़ाना चाहिए। भारत से व्यापार करना पाकिस्तान की अस्तित्वरक्षा है। पाकिस्तान को भारत से अपने संबंधों को सुधारना ही होगा। ईरान और अफगानिस्तान भी। पाकिस्तान को भी चीन के साथ अपने व्यापार को नियंत्रित करना चाहिए।तरार ने कहा कि ‘अभी छोटे-छोटे कदमों से शुरुआत करनी चाहिए और पाकिस्तान को सीमापार आतंकवाद के मुद्दे पर भारत को विश्वास में लेना चाहिए। भारत आज क्षेत्रीय ही नहीं बल्कि विश्वव्यापी शक्ति बन गया है। मैं भारत से भी उम्मीद करता हूँ कि वह भी संबंधों को सुधारने के लिए अपनी तरफ से प्रयास करेगा।”

यह भी पढ़े:-

फलस्तीनी राजनयिक बासेम एफ. हेलिस का भारत की प्रशंसा:-

एकजुटता का समर्थन

युद्ध: इस्राइल-हमास युद्ध के दौरान फलस्तीनी राजनयिक ने भारत की प्रशंसा की और कहा, “हर बार एकजुटता..।”

खबर को पुरा पढ़ने के लिए click करे:-rashtriyabharatmanisamachar

Spread the love
What does "money" mean to you?
  • Add your answer