Search
Close this search box.

सूर्यकुमार: भारत का नया कप्तान और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टी20 मुकाबले की कहानी{08-12-2023}

सूर्यकुमार की दास्तान: टीम का नया कप्तान:-

सूर्यकुमार की दास्तान: टीम का नया कप्तान

IND बनाम SA: भारत ने दक्षिण अफ्रीका में टी20 सीरीज नहीं जीती, सूर्या की सेना को कठिन चुनौती दी; India vs South बीसीसीआई के चयनकर्ताओं ने दक्षिण अफ्रीका दौरे पर सूर्यकुमार को टीम का कप्तान बनाकर साफ कर दिया है कि वह टीम का भविष्य का कप्तान होंगे। टी-20 विश्व कप के अगले वर्ष होने के बाद रोहित शर्मा को टी-20 में बने रहना मुश्किल होगा।
भारतीय क्रिकेट टीम का दक्षिण अफ्रीका पहुंचने पर पारंपरिक स्वागत हुआ। भारत को 10 दिसंबर को तीन मैचों की पहली टी-20 मैच से अपना अभियान शुरू करना होगा।

भारत ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ इस प्रारूप में सबसे अधिक सफलता हासिल की है। भारत का भारत ने अपने देश में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ एक भी टेस्ट सीरीज नहीं जीती है, लेकिन वनडे में एक सीरीज जीती है। भारत ने टी-20 में तीन मैचों की एकमात्र सीरीज जीती है। यह टीम सूर्यकुमार यादव की अगुवाई में खेलती है, लेकिन उसके खिलाफ दक्षिण अफ्रीका में किसी भी क्रिकेटर ने टी-20 मैच नहीं खेला है।

भारतीय बल्लेबाजों को दक्षिण अफ्रीका की उछाल भरी पिचें हमेशा चुनौती देती रही हैं। यही कारण है कि भारत ने 2017–2018 की वनडे सीरीज में 5-1 से जीत हासिल की है, हालांकि टेस्ट और वनडे में कुल आठ सीरीज खेली हैं। भारत का टी-20 में दक्षिण अफ्रीका से बेहतर रिकॉर्ड है। तीन मैचों की सीरीज में 2-1 से जीतने से पहले, दोनों देशों ने एक-एक मैच के तीन टी-20 मैच खेले। टीम इंडिया ने दो और अफ्रीकी टीम ने एक जीत हासिल की।भारत ने 2007 के टी-20 विश्वकप में दक्षिण अफ्रीका को भी हराया था। महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में भारत ने विश्व कप जीता था।

सूर्यकुमार की दास्तान: टीम का नया कप्तान

भविष्य के टी-20 नियमित कप्तान सूर्यकुमार यादव ने टी-20 में 360 डिग्री क्रिकेटर का दर्जा हासिल किया है। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ रोहित शर्मा और हार्दिक पांड्या की गैरमौजूदगी में भी टीम की कमान संभाली और खरे उतरे। बीसीसीआई चयनकर्ताओं ने टीम को दक्षिण अफ्रीका दौरे पर कप्तान बनाया ने स्पष्ट कर दिया कि वह टीम का अगला कप्तान होंगे। टी-20 विश्व कप के अगले वर्ष होने के बाद रोहित शर्मा को टी-20 में बने रहना मुश्किल होगा।

हार्दिक लगातार चोट से जूझते हैं, इसलिए उन्हें टीम से बाहर रहना पड़ता है। इसलिए सूर्यकुमार यादव को चुना गया है। वह ऑस्ट्रेलियाई टेस्ट में सफल रहे हैं। दक्षिण अफ्रीका के टेस्ट में सफलता मिलने पर विश्व कप के बाद टी-20 में उनकी कप्तानी पर मुहर लग सकती है।

विश्व कप का दावा बढ़ा देंगे क्रिकेटरों की विश्व कप की तैयारियों को देखते हुए भी यह सीरीज महत्वपूर्ण है। रिंकू तिलक वर्मा इस सीरीज के जरिए सिंह, विकेटकीपर बल्लेबाज जितेश शर्मा, रवि बिश्नोई और मुकेश कुमार टी-20 विश्व कप के लिए अपना दावा मजबूत करने का पूरा प्रयास करेंगे। वह ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पांच मैचों में नौ विकेट लेकर सीरीज का प्लेयर ऑफ द सीरीज चुना गया है। यदि वह इस सीरीज में भी मारक रहे तो विश्व कप के लिए तीसरे स्पिनर के रूप में उनका दावा बहुत मजबूत होगा।

तिलक वर्मा और जितेश को मौका मिला और वे सफल हुए तो चयनकर्ताओं को विश्व कप के लिए अधिक विकल्प मिल जाएंगे। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ नंबर छह पर फिनिशर की भूमिका को रिंकू सिंह ने बखूबी निभाया है। अब उनकी परीक्षा दक्षिण अफ्रीका की उछाल भरी पिचों पर होनी है।

दक्षिण अफ्रीका2006-07 में भारत के खिलाफ:

भारत 1-0 से विजयी हुआ।
2007 विश्वकप: भारत ने जीत हासिल की।
2010-11: भारत 1-0 से विजयी हुआ।
2011-12 : अफ्रीका ने 1-0 से जीता।
2017–2018: भारत ने 2-1 से जीत हासिल की।

यह भी पढ़े:-

IPL २०२४: इन दस खिलाड़ियों पर आईपीएल नीलामी में बोली लगाना मुश्किल है, स्टीव स्मिथ से लेकर डुसेन और केदार जाधव तक!

IPL २०२४: इन दस खिलाड़ियों पर आईपीएल नीलामी में बोली लगाना मुश्किल है, स्टीव स्मिथ से लेकर डुसेन और केदार जाधव तक

फिलहाल, आईपीएल गवर्निंग काउंसिल ने सभी फ्रेंचाइजी को 1166 खिलाड़ियों की लिस्ट भेजी है जो नीलामी में पंजीकृत हैं। जब टीमें उन खिलाड़ियों के नाम आईपीएल को सौंप देंगी, तो अंतिम पूल बहुत छोटा होगा।

खबर को पुरा पढ़ने के लिए click करे:-rashtriyabharatmanisamachar

 

Spread the love
What does "money" mean to you?
  • Add your answer

Recent Post