Search
Close this search box.

ईरान के नजदीक बंद हो रहे GPS सिग्नल्स: DGCA की चेतावनी {24-11-2023}

DGCA की चेतावनी: बिना इजाजत, ईरान की वायुसीमा में प्रवेश कर सकता है एक विमान!

DGCA की चेतावनी

DGCA: ईरान के निकट रहस्यमय रूप से बंद हो रहे हवाई जहाजों के जीपीएस सिग्नल को डीजीसीए ने चेतावनी दी कि एक विमान बिना इजाजत के ईरान की वायुसीमा में प्रवेश कर सकता है। मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, कई पायलट्स, कंट्रोलर्स और अन्य अधिकारियों ने भी इस मुद्दे पर चिंता व्यक्त की है।

मध्य पूर्व में रहस्यमय तरीके से नागरिक विमानों का GPS सिग्नल बंद होने की खबरें आई हैं। इसके परिणामस्वरूप, सिविल एविएशन रेगुलेटर (DGCA) ने भारतीय एयरलाइंस को दिशानिर्देश जारी किए हैं। ध्यान दें कि हाल ही में कई रिपोर्टों में मध्य पूर्व में, खासकर ईरान की सीमा के निकट, नागरिक विमानों का GPS सिग्नल गड़बड़ हुआ है। करता है। डीजीसीए की एडवाइजरी ने ऐसे हालात में भारतीय एयरलाइंस के विमानों को क्या करना चाहिए बताया है

कई कमर्शियल फ्लाइट्स ने समस्याओं का सामना किया:-

मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, DGCA के सर्कुलर ने कहा कि विमानन उद्योग को एक नई चुनौती का सामना करना पड़ा है, जिसमें वैश्विक नेविगेशन सैटेलाइट सिस्टम जाम हो रहा है या फिर फर्जी संकेत दिखा रहा है। डीजीसीए ने इस चुनौती को देखते हुए खतरे की निगरानी और विश्लेषण करने वाला एक नेटवर्क बनाने की मांग की है।

DGCA की चेतावनी

सितंबर से कई कमर्शियल फ्लाइट्स में यह समस्या आई है, जिसमें ईरान के नजदीक विमानों का नेविगेशन सिस्टम काम करना बंद कर देता है और उसमें गड़बड़ी होती है।आता है। हाल ही में एक विमान ने जीपीएस सिग्नल में गड़बड़ी के चलते बिना ईरान की वायुसीमा में प्रवेश किया था। मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, कई पायलट्स, कंट्रोलर्स और अन्य अधिकारियों ने भी इस मुद्दे पर चिंता व्यक्त की है।

सिग्नल में क्या समस्या है?

मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, विमानों को मध्य पूर्व में उड़ान भरते समय एक फर्जी जीपीएस सिग्नल मिलता है। विमानों के सिस्टम को यह सिग्नल बताता है कि विमान अपने निर्धारित वायुमार्ग से दूर उड़ान भर रहे हैं। यह सिग्नल अक्सर इतने शक्तिशाली होते हैं कि विमान के पूरे सिस्टम की इंटीग्रिटी उनसे प्रभावित होती है। मिनटों में विमान का बाहरी रेफरेंस सिस्टम खराब हो जाता है और विमान की नेविगेशन क्षमता पर प्रभाव पड़ता है। एरबिल उत्तरी इराक और अजरबैजान के व्यस्त मार्ग पर है, जहां यह समस्या है।

यह समस्या अभी तक पता नहीं चली है, लेकिन विमानों के सिग्नल में गड़बड़ी की वजह मध्य पूर्व में तैनात मिलिट्री इलेक्ट्रोनिक युद्धक सिस्टम है।

 

यह भी पढ़े:-

      आपदा का दौरा: रविवार को ब्रह्मखाल-यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग सुरंग में फंसे चालिस लोग

भूस्खलन की दुर्घटना के बाद बचाव अभियान में तेजी:-

भूस्खलन से टकराया: 40 लोगों की सुरंग में फंसी दुर्घटना, 900 मिमी स्टील पाइपों से बचाव का प्रयास"

Uttarkashi Tunnel Break: 40 लोग टनल में फंस गए. अब 900 MM स्टील पाइपों से निकालने की कोशिश
Uttarkashi Tunnel Break: रविवार तड़के ब्रह्मखाल-यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग पर सिलक्यारा से डंडालगांव के बीच निर्माणाधीन सुरंग में एक दुर्घटना में लगभग चालिस लोग फंसे हैं। बचाव दल मजदूरों को बचाने के लिए संघर्ष कर रहे हैं।

खबर को पुरा पढ़ने के लिए click करे:-rashtriyabharatmanisamachar

 

 

Spread the love
What does "money" mean to you?
  • Add your answer

Recent Post