Search
Close this search box.

इस्राइली सेना: युद्धविराम के बावजूद जंग जारी {03-11-2023}

इस्राइली सेना ने दावा किया: युद्धविराम का कोई इरादा नहीं:-

 

इस्राइली सेना ने दावा किया: युद्धविराम का कोई इरादा नहीं
इस्राइली सेना ने दावा किया: युद्धविराम का कोई इरादा नहीं

Israel War:-

बेंजामिन नेतन्याहू बोले- जंग चरम पर पहुंची;

अमेरिका की अपील के बावजूद युद्धविराम के लिए तैयार नहीं अमेरिका ने पश्चिम एशिया के अन्य देशों के साथ बातचीत कर गाजा पट्टी से निर्दोष नागरिकों को निकालने की कोशिशें शुरू कर दी हैं। हालांकि इस्राइली सेना ने साफ कर दिया है कि फिलहाल युद्धविराम करने का उनका कोई इरादा नहीं है।

इस्राइली सेना ने दावा किया है कि उसके सैनिकों ने गाजा शहर को चारों तरफ से घेर लिया है। इस्राइल के पीएम बेंजामिन नेतन्याहू ने कहा कि हम इस लड़ाई के चरम पर आ गए हैं और गाजा के बाहरी इलाकों में हमें अच्छी सफलता मिली है और हम अब आगे बढ़ रहे हैं। वहीं अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने अपने एक बयान में इस्राइल हमास के बीच थोड़े समय के लिए युद्ध विराम की अपील की। हालांकि इस्राइली सेना के प्रवक्ता ने कहा है कि फिलहाल युद्धविराम की उनकी कोई योजना नहीं है।

इस्राइली सेना ने दावा किया: युद्धविराम का कोई इरादा नहीं

अमेरिका ने गाजा से नागरिकों को निकालने की कोशिशें की तेज:-

बता दें कि अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने हाल ही में गाजा में कुछ समय के लिए युद्धविराम की अपील की थी ताकि गाजा पट्टी में मानवीय मदद पहुंचाई जा सके और घायलों और विदेशी नागरिकों को राफा क्रॉसिंग से गाजा पट्टी से निकाला जा सके। अमेरिका ने पश्चिम एशिया के अन्य देशों के साथ बातचीत कर गाजा पट्टी से निर्दोष नागरिकों को निकालने की कोशिशें शुरू कर दी हैं। हालांकि इस्राइली सेना ने साफ कर दिया है कि फिलहाल युद्धविराम करने का उनका कोई इरादा नहीं है।

 

राफा क्रॉसिंग से लोगों का निकलना जारी:-

वहीं मिस्त्र के स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया है कि राफा क्रॉसिंग खुलने के दूसरे दिन 21 घायल फलस्तीनी नागरिकों, 344 विदेशी नागरिकों, जिनमें 72 बच्चे भी शामिल हैं, उन्हें राफा क्रॉसिंग से निकाला गया। इस्राइली सेना ने हमास के कब्जे से अपने बंधक नागरिकों को छुड़ाने के प्रयास तेज कर दिए हैं। अमेरिका के ड्रोन्स भी लगातार गाजा के ऊपर उड़ान भर रहे हैं ताकि बंधकों की लोकेशन का पता लगाया जा सके।

अमेरिका की स्पेशल फोर्सेज द्वारा इस्तेमाल किया जाने वाला एमक्यू-9 रीपर ड्रोन बीते शनिवार को गाजा पट्टी में देखा गया था। इस्राइल ने गाजा में जमीनी हमला भी शुरू कर दिया है। हालांकि अमेरिकी अधिकारियों ने कहा है कि उनके ड्रोन्स इस्राइली सेना के जमीनी हमले में मदद नहीं दे रहे हैं बल्कि हमास के आतंकियों द्वारा अगवा किए गए बंधकों का पता लगाने में जुटे हैं।

 

हिजबुल्ला का इस्राइल के ठिकानों पर हमले का दावा:-

वहीं लेबनान स्थित आतंकी संगठन हिजबुल्ला ने गुरुवार को दावा किया कि उसने सीमा पर इस्राइल के 19 ठिकानों को निशाना बनाया। इस्राइल ने गाजा के सबसे बड़े शरणार्थी कैंप जाबालिया शरणार्थी कैंप पर दो दिन में दो बार हमला किया है, जिसमें बड़े पैमाने पर लोग मारे गए हैं। मंगलवार और बुधवार को इस्राइली हमले में हमास के दो बड़े नेता भी मारे गए हैं। इस्राइल के हमले में अब तक गाजा में 9 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है, इनमें 3760 बच्चे भी शामिल हैं।

इस्राइल बोला- हमास को खत्म करना उद्देश्य:-

इस्राइल के विदेश मंत्रालय ने कहा है कि ‘7 अक्तूबर को हमने हमास के खिलाफ युद्ध का एलान किया था और यह लड़ाई आत्मरक्षा की लड़ाई है। हमारा उद्देश्य हमास का खात्मा करना है क्योंकि अगर हम ऐसा नहीं करेंगे तो हमास फिर से ऊपर बर्बर हमला कर सकता है। ये हम नहीं कह रहे हैं बल्कि खुद हमास के नेताओं ने कहा है कि वह 7 अक्तूबर जैसे हमले बार-बार करेंगे।

यह भी पढ़े:-

ईरान और इजरायल: संबंधों में तनाव, हमास के मुद्दे पर चुनौतियां और शांति की तलाश {15-10-2023}

साम्प्रदायिक तनाव: ईरान और इजरायल के बीच के संबंध

ईरान और इजरायल के बीच के संबंध विशेष रूप से आलोचनाओं और तनावों से भरपूर रहे हैं, और हाल में ईरान ने इस संबंध में एक और चुनौती दी है। वे हमास के साथ चल रहे युद्ध को बढ़ावा देने के इजरायल के प्रयासों को नकारते हुए कह रहे हैं कि इसके बजाय वे युद्ध को रोकने की कोशिश करें.

    खबर को पुरा पढ़ने के लिए click करे :-  rashtriyabharatmanisamachar

for all post click on :- All Posts

Spread the love
What does "money" mean to you?
  • Add your answer