Search
Close this search box.

एशियन पैरा गेम्स: चीन में लक्षित यादव ने जीता कांस्य पदक, चार साल पहले लगी चोट, मगर हौसला नहीं हारे {28-10-2023}

एशियन पैरा गेम्स: चीन में लक्षित यादव ने जीता कांस्य पदक:-

चीन में लक्षित यादव ने जीता कांस्य पदक, चार साल पहले लगी चोट, मगर हौसला नहीं हारे.
लक्षित यादव रेवाड़ी जिले के गांव खिजुंरी के रहने वाले हैं। चाचा उदय सिंह ने बताया कि करीब चार साल पहले बाइक से गिरने के कारण लक्षित की रीढ़ की हड्डी में चोट लग गई थी। इस वजह से वह व्हील चेयर पर हैं।

एशियन पैरा गेम्स
एशियन पैरा गेम्स: चीन में लक्षित यादव ने जीता कांस्य पदक

 चार साल पहले की चोट के बावजूद, लक्षित का हौसला बरकरार:

आज हम आपको एक ऐसी कहानी सुनाएंगे जो हमें सच्चे मनुष्यता के अहसास से भर देगी। यह कहानी है लक्षित यादव की, जिन्होंने अपने हौसले को हार नहीं माना और चीन में आयोजित पैरा एशियन गेम्स में कांस्य पदक जीता। लक्षित यादव रेवाड़ी जिले के गांव खिजुंरी के निवासी हैं। उनका परिवार और गांववाले उनके प्रति गर्व से भरे हैं, क्योंकि लक्षित ने अपने संघर्ष और मेहनत से एक महत्वपूर्ण पदक जीता है।

चाचा उदय सिंह ने बताया कि चार साल पहले, एक बाइक दुर्घटना के कारण लक्षित की रीढ़ की हड्डी में चोट लग गई थी। इस चोट के बाद, वह व्हील चेयर पर बैठने के मजबूर हो गए। आप खुद सोचिए, एक चोट के बाद भी, लक्षित ने हार नहीं मानी। वह ने अपने सपनों की पीछा करना जारी रखा और पैरा एशियन गेम्स में अपने देश के लिए गर्वशील मोमेंट बनाया।

लक्षित यादव: गांव खिजुंरी का गर्व:-

लक्षित ने चीन में हो रहे पैरा एशियन गेम्स में जैवलिन थ्रो इवेंट में 21.20 मीटर की दूरी पर भाला फेंक कर तीसरा स्थान प्राप्त किया। उनका यह प्रदर्शन उनके संघर्ष को और भी महत्वपूर्ण बना दिया, और हम सबको गर्व है कि वह हमारे देश का नाम रोशन कर रहे हैं। लक्षित ने अपने सफलता के पीछे एक महत्वपूर्ण सबक सिखा दिया – हालात चाहे जैसे भी हों, हमारे मन में जो इरादा होता है, वही हमारी मंजिल की ओर जाने का मार्ग दिखलाता है।

वह ने अपने चोट के बावजूद न केवल खुद को प्रेरित किया, बल्कि अपने गांव और देश को भी गर्वित किया। लक्षित की इस उपलब्धि से परिवार के सदस्य बेहद खुश हैं। उनके माता-पिता और चाचा-चाची ने उनके संघर्ष और साहस को हमेशा सहारा दिया है, और वे अब भी गर्व से उनके साथ हैं।चीन में हो रहे पैरा एशियन गेम्स में रेवाड़ी के लक्षित यादव ने शुक्रवार को कांस्य पदक जीता है।

 

चोट के बाद व्हील चेयर पर, फिर भी आगे बढ़ते:-

लक्षित यादव रेवाड़ी जिले के गांव खिजुंरी के रहने वाले हैं। चाचा उदय सिंह ने बताया कि करीब चार साल पहले बाइक से गिरने के कारण लक्षित की रीढ़ की हड्डी में चोट लग गई थी। इस वजह से वह व्हील चेयर पर हैं। पैरा प्रशिक्षक टेकचंद को जब लक्षित के बारे में पता चला तो उन्होंने हौसला बढ़ाया और खेलों में हिस्सा लेने के लिए प्रोत्साहित किया।

एशियन पैरा गेम्स:

लक्षित यादव की उपलब्ध:-

इसके बाद 2021 में बहरीन में आयोजित हुई चतुर्थ एशियन यूथ पैरा गेम्स में 6.90 मीटर दूर गोला फेंककर और 17.95 मीटर दूर भाला फेंक कर दो पदक लक्षित ने जीते थे। इसके बाद इस साल जनवरी माह में गुजरात के नडियाद में आयोजित हुई 12वीं नेशनल पैरा एथलीट चैंपियनशिप में जैवलिन थ्रो और शॉटपुट में स्वर्ण व डिस्कस थ्रो में रजत पदक जीता था।

 

यह भी पढ़े:-

Pakistan vs. South Africa मैच का पूर्वावलोकन: विश्व कप 2023 में करो या मरो का खेल, क्या बाबर आजम की कप्तानी बचा पाएगी टीम को? #Cricket #PAKvsSA

विश्व कप 2023 में करो या मरो का खेल, क्या बाबर आजम की कप्तानी बचा पाएगी टीम को:-

PAK vs SA Preview: पाकिस्तान के लिए करो या मरो का मुकाबला, पिछले 24 साल से विश्व कप में द.अफ्रीका से नहीं हारे

Prediction of the Pakistan vs. South Africa World Cup 2023 starting lineup:-

पाकिस्तान के नामी-गिरामी बल्लेबाज नाकाम साबित हुए हैं। दक्षिण अफ्रीका के बल्लेबाजों ने अब तक 155 चौके और 59 छक्के मारे हैं, जबकि पाकिस्तान पांच मैचों में 24 छक्के और 136 चौके ही लगा सका है।

  पढ़ने के लिए click करे :- rashtriyabharatmanisamachar

Spread the love
What does "money" mean to you?
  • Add your answer

Recent Post