Search
Close this search box.

युवक ने मालगाड़ी के आगे कूदकर आत्महत्या की शव को खाद कट्टे में भरकर निजी वाहन से प्रधानमंत्री के लिए लाया गया {13-01-2024}

Mandal: युवक ने मालगाड़ी के आगे कूदकर आत्महत्या की, शव को कट्टे में भरकर निजी वाहन से प्रधानमंत्री के लिए लाया गया मृत व्यक्ति को स्ट्रैचर तक नहीं पाया गया था, इसलिए उसे खाद के कट्टे में भरकर निजी वाहन से पीएम के लिए लाया गया था, जो बहुत अजीब था।

युवक ने मालगाड़ी के आगे कूदकर की आत्महत्या 

स्ट्रैचर तक नहीं पहुंचा था, इसलिए खाद के कट्टे में भरकर पीएम के लिए भेजा गया

मंदसौर के पीपलियामंडी में एक युवा ने मालगाड़ी के आगे कूदकर जान दे दी। पुलिस ने स्ट्रैचर नहीं होने के कारण शव को खाद कट्टे में भरकर एक निजी वाहन से पीएम के लिए भेजा। पुलिस ने मर्ग बनाकर मामला जांच में लिया है।प्राप्त जानकारी के अनुसार, पीपलियामंडी रेलवे फाटक के बाहर आउटर सिग्नल के पास एक युवक ने नीमच की ओर जा रही एक मालगाड़ी के आगे कूदकर आत्महत्या कर दी। इंजन चालक ने पिपलिया स्टेशन मास्टर को जानकारी दी।

युवक ने मालगाड़ी के आगे कूदकर की आत्महत्या

थाने के एसआई बापू सिंह बामनिया सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचे। मृतक युवा का नाम राहुल था, जो रीछालालमुहा (दलौदा) निवासी था और पिता दिनेश लखारा था। साथ ही, युवक के मोबाइल के पीछे सुसाइट नोट मिला, जिसमें उसने अपनी जिंदगी से परेशान होकर आत्महत्या करने का निवेदन किया था।

मामले की जांच कर रहे एसआई बापू सिंह बामनिया ने बताया कि युवा रीछालालमूहा का रहने वाला है और अविवाहित है। उसके पिपलिया में भी लोग रहते हैं। माता-पिता उत्तर प्रदेश के झांसी गए थे। इस दौरान युवा ने ऐसा किया। लोगों को जानकारी दी गई है। युवक ने अपने आत्महत्या का कारण जिंदगी से परेशान होना बताया है। पुलिस ने मर्ग बनाकर मामले की जांच शुरू कर दी है।

इस घटना के बाद उप मुख्यमंत्री जगदीश देवड़ा के विधानसभा क्षेत्र में स्वास्थ्य विभाग की स्थिति का पता चला। शव को लेने के लिए एंबुलेंस नहीं पहुंची। युवक के शव को पीएम के लिए ले जाने के दौरान स्ट्रैचर भी नहीं मिला, और शव पूरी तरह से क्षतिग्रस्त नहीं था। इसके बावजूद खाद के कट्टे में भरा गया। जब एंबुलेंस नहीं पहुंची, युवा के परिजनों ने अपना निजी वाहन लेकर शव को पीएम के लिए भेजा

यह भी पढ़े:-

अग्निवीरों की तैनाती में बढ़त
 जनरल मनोज पांडे: अग्निवीरों की तैनाती में बढ़त
सेना: थलसेना प्रमुख ने गुरुवार को बताया कि ‘अग्निवीरों के पहले दो बैच फील्ड यूनिट में तैनाती के लिए पूरी तरह तैयार हैं और इनके फीडबैक काफी अच्छे और उत्साहजनक हैं,’ उन्होंने कहा कि भूटान-चीन सीमा बातचीत पर हमारी नजर है और ‘इंडो-म्यांमार सीमा पर भी हालात चिंताजनक हैं। पुरा पढ़े
Spread the love
What does "money" mean to you?
  • Add your answer