Search
Close this search box.

स्वाति मालीवाल का मामला: सांसद स्वाति मालीवाल मारपीट मामले की SIT जांच करेगी {21-05-2024}

स्वाति मालीवाल के मामले: मारपीट की SIT जांच

Swati Maliwal का मामला: सांसद स्वाति मालीवाल मारपीट मामले की SIT जांच करेगी, इस महिला अधिकारी को जिम्मेदारी दी गई है। उत्तरी जिले की एडिशनल डीसीपी अंजिथा चिपियला को इस जांच की जिम्मेदारी दी गई है। जांच पूरी होने पर रिपोर्ट वरिष्ठ अधिकारियों को भेजी जाएगी।

स्वाति मालीवाल के मामले: मारपीट की SIT जांच

आम आदमी पार्टी की राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल की हत्या मामले में एक महत्वपूर्ण बदलाव आया है। दिल्ली पुलिस ने मारपीट मामले की जांच के लिए एक SIT बनाया है। बिभव कुमार को सोमवार शाम मुख्यमंत्री आवास पर लेकर पहुंची दिल्ली पुलिस की एक टीम। उत्तरी जिले की अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त अंजीथा चेपयाना और अन्य वरिष्ठ अधिकारी इस दौरान उपस्थित थे।

अंजिथा चिपियला बनाएगी। टीम के प्रमुख पुलिस अधिकारी ने बताया कि स्वाति मालीवाल मामले में एसआईटी बनाया गया है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के पीए बिभव कुमार ने एक सप्ताह पहले आम आदमी पार्टी की राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल से मारपीट की थी। उत्तरी जिले की एडिशनल डीसीपी अंजिथा चिपियला एसआईटी टीम का नेतृत्व करेंगी।

ये एसआईटी अधिकारी भी होंगे, जो टीम की जांच करेंगे। साथ ही एसआईटी टीम में तीन इंस्पेक्टर रैंक के अधिकारी भी हैं। इसमें सिविल लाइन थाना पुलिस के अधिकारी भी शामिल हैं, जो मामले को दर्ज किया था। पुलिस अधिकारियों ने कहा कि एसआईटी वरिष्ठ अधिकारियों को जांच रिपोर्ट सौंपेगा।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि 13 मई की सुबह क्या हुआ था। पूरी घटना जानने के लिए पुलिस ने बिभव की उपस्थिति में सीन दोहराया। सूत्रों का कहना है कि बिभव पूछताछ में बहुत कम सहयोग कर रहे हैं। वह सिर्फ हां या ना में उत्तर दे रहे हैं। पुलिस उनसे पूछताछ कर केस के हर पहलू को जोड़ने की कोशिश कर रही है।

कितने लोगों ने बयान दिए गए मामले की जांच कर रहे अधिकारियों ने बताया कि पुलिस की टीम प्रत्येक सबूत जुटाने में लगी है ताकि मामला मजबूत हो सके। पुलिस बल ने सीएम आवास पर उपस्थित कई कर्मचारियों और अन्य व्यक्तियों के बयान दर्ज किए।पुलिस बल ने सीएम आवास पर उपस्थित कई कर्मचारियों और अन्य व्यक्तियों के बयान दर्ज किए। 15 से 20 अतिरिक्त व्यक्तियों के बयान अभी दर्ज किए जाना बाकी है। इनमें पीसीआर कर्मचारी और सिविल लाइंस थाना प्रभारी हैं।

मामले की जांच कर रहे वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि बिभव कुमार ने दूसरे दिन भी हिरासत में पुलिस की पूछताछ में सहयोग नहीं किया। स्वाति मालीवाल पर हमला करने का वह लगातार इनकार कर रहे हैं। उसने अपना मोबाइल फॉर्मेट क्यों किया और भागे क्यों का कोई जवाब नहीं दिया, हालांकि मामला दर्ज होने के बाद।

पुलिस ने घटना वाले दिन सीएम आवास पर तैनात अधिकारियों, सुरक्षाकर्मियों और कर्मचारियों की सूची बनाई है, सूत्रों ने बताया है। अब पुलिस उनसे प्रत्येक कर घटना पर पूछताछ करेगी। रविवार को पुलिस ने कुछ लोगों के बयान भी दर्ज किए हैं।

यह भी पढ़े:-

जीवित जले दस श्रद्धालु: नूंह में आज बस में आग लगने की वजह, कड़ा, कंगन, कुंडल और कपड़े से पहचाना गया

जीवित जले दस श्रद्धालु: नूंह में आज बस में आग लगने की वजह, कड़ा, कंगन, कुंडल और कपड़े से पहचाना गया: हरियाणा के नूंह में कुंडली-मानेसर-पलवल (KMP) एक्सप्रेसवे पर एक टूरिस्ट बस में आग लगने से दस लोग मारे गए। 28 से अधिक लोग घायल हुए। वृन्दावन से बस लौट रही थी। पुरा पढ़े

 

Spread the love
What does "money" mean to you?
  • Add your answer