Search
Close this search box.

US: थानेदार ने एक पोस्ट में लिखा कि “कांग्रेस का सदस्य होने के नाते मैं हमेशा बातचीत और चर्चा करना चाहता हूं {07-05-2024}

US: थानेदार ने एक पोस्ट में लिखा कि "कांग्रेस का सदस्य होने के नाते मैं हमेशा बातचीत और चर्चा करना चाहता हूं

US: थानेदार ने एक पोस्ट में लिखा कि “कांग्रेस का सदस्य होने के नाते मैं हमेशा बातचीत और चर्चा करना चाहता हूं, दुर्भाग्य से कम्युनिटी सेंटर (ऑफिस) में हुई तोड़फोड़ कोई अकेली घटना नहीं है, साथ ही न ये बातचीत का सही तरीका है।” ये सब सिर्फ लोगों को डराने और बांटने की कोशिश है।

US: थानेदार ने एक पोस्ट में लिखा कि “कांग्रेस का सदस्य होने के नाते मैं हमेशा बातचीत और चर्चा करना चाहता हूं

भारतीय मूल के अमेरिकी सांसद श्री थानेदार के डेट्रायट स्थित कार्यालय में आग लगी है। श्री थानेदार ने इसकी सूचना सोशल मीडिया पर साझा की।फलस्तीन की आजादी के नारे लिखे हुए कार्यालय की दीवारों की तस्वीरें भी उन्होंने सोशल मीडिया पर पोस्ट कीं।

श्री थानेदार के कार्यालय के प्रवक्ता ने इस मामले में पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। थानेदार ने अपने लेख में कहा, “कांग्रेस का सदस्य होने के नाते मैं हमेशा बातचीत और चर्चा करना चाहता हूं, दुर्भाग्य से कम्युनिटी सेंटर (ऑफिस) में हुई तोड़फोड़ कोई अकेली घटना नहीं है, साथ ही न ये बातचीत का सही तरीका है।” ये सब सिर्फ लोगों को डराने और बांटने की कोशिश है।श्री थानेदार ने लिखा कि वह पहले भी ऐसे विरोधों का सामना कर चुका था।पिछले वर्ष दिसंबर में यह विरोध हिंसक हो गया था। मेरे परिवार को इन घटनाओं से भय है और कुछ लोग घायल हुए हैं।’

इस्राइल का समर्थन: कुछ समय पहले, श्री थानेदार, एक अमेरिकी सांसद, ने इस्राइल हमास युद्ध में इस्राइल का समर्थन किया था। The Judge ने कहा कि इस्राइल को अमेरिका का समर्थन चाहिए। साथ ही, उन्होंने हमास को बर्बर आतंकी संगठन बताया और इसे समाप्त करना चाहिए था। श्री थानेदार इसके बाद फलस्तीन समर्थकों के निशाने पर आ गए हैं, और ऐसा लगता है कि ताजा हमला भी उनके द्वारा किया गया है। थानेदार का पिछले साल दिसंबर में भी सोशल मीडिया अकाउंट हैक किया गया था।साथ ही रात तीन बजे फलस्तीन समर्थकों ने अपने घर के बाहर विरोध प्रदर्शन किया था।

यह भी पढ़े:-

Haryana राज्य: पीपीपी में छेड़छाड़ कर अलग-अलग पहचान बनाने वालों में पांच (एक महिला भी शामिल) पर केस दर्ज

Haryana राज्य: पीपीपी में छेड़छाड़ कर अलग-अलग पहचान बनाने वालों में पांच (एक महिला भी शामिल) पर केस दर्ज किया गया था, जो पांच से दस हजार रुपये लेते थे। आदमपुर में आरती, कैलाश गर्ग, सीएससी संचालक सुरेंद्र सुथार, सुरेंद्र सुथार और प्रवेश के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। उक्त लोगों पर आरोप है कि वे 5 से 10 हजार रुपये लेकर पारिवारिक आईडी को अलग-अलग करते थे। पुरा पढ़े

Spread the love
What does "money" mean to you?
  • Add your answer

Recent Post