Search
Close this search box.

जल संकट: दक्षिण भारत में जलाशयों का स्तर घटकर सिर्फ 17% बचा {27-04-2024}

जल संकट: दक्षिण भारत में जलाशयों का स्तर घटकर सिर्फ 17% बचा
पूर्वी क्षेत्र (असम, ओडिशा और पश्चिम बंगाल) में जल भंडारण स्तर में पिछले साल और दस साल के औसत की तुलना में सुधार हुआ है।

जल संकट: दक्षिण भारत में जलाशयों का स्तर घटकर सिर्फ 17% बचा

गर्मियों की शुरुआत से देश में जल संकट गहराना शुरू हो गया है। दक्षिण भारत की हालत बेहतर है। दक्षिण भारत के राज्यों को जल संकट का सामना करना पड़ा है, जिसमें जल भंडारण जलाशयों की क्षमता घटकर केवल 17% रह गई है। केंद्रीय जल आयोग (CWC) ने यह सूचना प्राप्त की।

दक्षिणी राज्यों में जलसंकट गंभीर है: आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, कर्नाटक, केरल और तमिलनाडु। CWC द्वारा बृहस्पतिवार को जारी बुलेटिन में बताया गया कि भारत के दक्षिणी भाग में 42 जलाशय हैं, जिनकी कुल भंडारण क्षमता 53.334 बीसीएम है, या अरब घन मीटर। ताजा रिपोर्ट के अनुसार, इन जलाशयों में मौजूदा भंडारण 8.865 बीसीएम है, जो उनकी कुल क्षमता का केवल 17 प्रतिशत है।

यह आंकड़ा पिछले वर्ष की समान अवधि के भंडारण स्तर (29 प्रतिशत) और पिछले दस वर्षों के औसत (23 प्रतिशत) से बहुत कम है। दक्षिणी जलाशयों में भंडारण की कमी|दक्षिणी क्षेत्र में जलाशयों में भंडारण का कम स्तर इन राज्यों में पानी की बढ़ती कमी का संकेत है, जो सिंचाई, पेयजल और पनबिजली के लिए संभावित चुनौतियों का संकेत है।

पूर्वी क्षेत्र: असम, ओडिशा और पश्चिम बंगाल जैसे राज्यों में पिछले वर्ष और दस साल के औसत की तुलना में जल भंडारण स्तर में सुधार हुआ है। आयोग ने बताया कि इस क्षेत्र में 23 निगरानी जलाशयों में 7.889 बीसीएम पानी है, जो 20.430 बीसीएम की कुल भंडारण क्षमता का 39 प्रतिशत है। यह पिछले वर्ष की समान अवधि (34 प्रतिशत) और दस साल की औसत (34 प्रतिशत) से बेहतर है।

गुजरात और महाराष्ट्र के पश्चिमी क्षेत्र में भंडारण स्तर 11.771 बीसीएम है, जो 49 निगरानी जलाशयों की कुल क्षमता का 31.7% है। यह पिछले वर्ष के 38 प्रतिशत भंडारण स्तर और 10 वर्षों के औसत (32.1 प्रतिशत) से कम है। यही कारण है कि उत्तरी और मध्य भागों में जल भंडारण स्तर भी घट गया है।

यह भी पढ़े:-

ABY: आयुष्मान कार्ड बनाने जा रहे हैं? जानें किन दस्तावेजों की जरूरत है

Ayushman कार्ड: जब आप किसी सरकारी योजना से जुड़ते हैं, तो आपको पहले यह जानना होगा कि आप योग्य हैं या नहीं। दरअसल, प्रत्येक योजना की पात्रता काफी अलग होती है। इसलिए योग्यता की जांच के बिना आवेदन नहीं किया जा सकता। पुरा पढ़े

Spread the love
What does "money" mean to you?
  • Add your answer