Search
Close this search box.

Paras Nath Rai ने कहा: स्कूल में पढ़ाते हुए पारसनाथ को BJP से टिकट मिला तो वे चौंक गए और भरोसा नहीं कर पाए। {11-04-2024}

Paras Nath Rai ने कहा: स्कूल में पढ़ाते हुए पारसनाथ को BJP से टिकट मिला तो वे चौंक गए और भरोसा नहीं कर पाए।

भाजपा की नवीनतम लिस्ट में गाजीपुर लोकसभा क्षेत्र से पारसनाथ राय को प्रत्याशी घोषित किया गया है। जब उनका नाम लिस्ट में था, वे पारसनाथ स्कूल में संस्कृत पढ़ रहे थे।

Paras Nath Rai ने कहा: स्कूल में पढ़ाते हुए पारसनाथ को BJP से टिकट मिला तो वे चौंक गए और भरोसा नहीं कर पाए।

भाजपा ने गाजीपुर से पारसनाथ राय को प्रत्याशी बनाकर सबको हैरान कर दिया। पारसनाथ को ही टिकट का भरोसा नहीं था। जब पारसनाथ का नाम घोषित हुआ, वह अपने ही स्कूल में कक्षा सात के विद्यार्थियों को संस्कृत पढ़ाया करता था।

यह सुनते ही पारसनाथ ने कहा, सही है? दो घंटे बाद, वे टिकट मिलने पर भरोसा कर सकते थे। फिर कहा कि पार्टी छोटे कार्यकर्ताओं का भी सम्मान करती है, जो असंभव है।

2 जनवरी 1955 को जन्मे पारसनाथ राय मनिहारी ब्लॉक के सिखड़ी में रहते हैं। वह आरएसएस से पहले से ही जुड़े हुए हैं। जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा उनके निकट हैं। उनके चार पुत्रों में से दो बेटे और दो बेटियां हैं। 2014 में, बड़े बेटे आशुतोष राय ने भाजयुमो का प्रदेश अध्यक्ष पद संभाला था। इस समय वे भाजपा संगठन में शामिल हैं। है उसकी छोटी बहन आशीष राय प्राथमिक स्कूल में शिक्षक हैं।

भाजपा से टिकट मिलने पर पारसनाथ राय ने खुशी व्यक्त की और बताया कि बुधवार की दोपहर करीब डेढ़ बजार रहे थे। संस्कृत कक्षा सात में पंडित मदन मोहन मालवीय सिखड़ी इंटर कॉलेज में पढ़ाया जाता था। भाजपा जिलाध्यक्ष सुनील सिंह ने उसी समय फोन किया। प्रत्याशी बनाने की जानकारी सिर्फ जिलाध्यक्ष को दी गई। दो घंटे तक मुझे विश्वास नहीं हुआ। इसके बाद वे घर पहुंचे और पहले से निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार जिला स्तर पर आयोजित संघ की बैठक में भाग लिया। जब बधाइयां मिलने लगीं, तब वास्तव में टिकट मिल गया। उनका दावा है कि वे लोकसभा चुनाव में भाग नहीं लेंगे। भाजपा ने कभी टिकट नहीं मांगे, लेकिन अपने कार्यकर्ताओं की देखभाल करती है।

यह भी पढ़े:-

Bangla: टीएमसी के तीन नेताओं को भूपतिनगर विस्फोट मामले में एनआईए से पूछताछ करने का समन दिया गया
NAIA ने TAMI के तीन नेताओं मनब कुमार कराया, सुबीर मैती और नबा कुमार पोंडा को पूछताछ के लिए बुलाया है। तीनों नेताओं को पिछले हफ्ते भी एनआईए ने समन दिया था, लेकिन वे एनआईए के अधिकारियों के सामने नहीं आए। पुरा पढ़े

Spread the love
What does "money" mean to you?
  • Add your answer

Recent Post