Search
Close this search box.

Kishan Andolan: फिलहाल दिल्ली नहीं जाना; शंभू बॉर्डर {02-03-2024}

शंभू बॉर्डर : फिलहाल दिल्ली नहीं जाना; मजदूरों की प्रदर्शन की खबरें रविवार को किसान संगठन दिल्ली में अपनी अगली रणनीति घोषित करने के लिए जाएगा। इस बीच, शंभू और खनौरी बॉर्डर पर ट्रैक्टर ट्रालियों की संख्या बढ़ने लगी है। किसानों ने भी डबवाली सीमा पर धरने की तैयारी की है।

कल शुभकरण की अंतिम घोषणा होगी, बॉर्डर पर मोर्चे चलेंगे:शंभू बॉर्डर

कल शुभकरण की अंतिम घोषणा होगी, बॉर्डर पर मोर्चे चलेंगे:शंभू बॉर्डर

कल शुभकरण की अंतिम घोषणा होगी, बॉर्डर पर मोर्चे चलेंगे:शंभू बॉर्डर

तीन मार्च तक शंभू और खनौरी बॉर्डर पर धरने पर बैठे किसानों ने दिल्ली कूच का निर्णय टाल दिया है। शंभू बॉर्डर पर किसान नेता बलदेव जीरा और मनजीत सिंह राय ने पत्रकार वार्ता में कहा कि शुभकरण की अंतिम अरदास, या भोग, तीन मार्च को दिल्ली कूच पर होगा।

वहीं, शंभू और खनौरी की तरह दिल्ली जाने वाले अन्य मार्गों पर भी मोर्चे लगाए जाएंगे। यह डबवाली से शुरू होता है। यहां भी बहुत से किसान मिलेंगे। सरकार अगर किसानों को आगे बढ़ने की अनुमति देगी, तो किसान यहीं रह जाएंगे. आंदोलनरत किसानों की जत्थेबंदियां यह नहीं चाहती कि संघर्ष में और लोगों की जान जाए।

सरवण सिंह पंधेर और जगजीत सिंह डल्लेवाल रविवार को बठिंडा के गांव बल्लो में शुभकरण की अंतिम अरदास के मौके पर औपचारिक घोषणा करेंगे। बड़ी संख्या में लोगों से वहां आने की अपील की है। किसानों ने कहा कि हरियाणा सरकार ने आंसू गैस के गोले फेंकने के लिए इजरायल से खरीदे गए ड्रोनों का उपयोग किया है।किसानों ने कहा कि आंदोलन जारी रहेगा जब तक एमएसपी की कानूनी गारंटी सहित अन्य मांगें पूरी नहीं होतीं।

उधर, किसानों की संख्या शंभू बॉर्डर पर बढ़ रही है। शुक्रवार को केरल, उत्तर प्रदेश और राजस्थान से भी कुछ किसान नेता शंभू बॉर्डर पर पहुंचे। किसानों ने शंभू बॉर्डर पर चार से पांच किलोमीटर तक ट्रैक्टर-ट्रॉलियों में अस्थायी आवास बनाए हैं। महिलाएं भी आंदोलन में भाग लेती हैं। किसानों को लंगर आसपास के गांवों से ला रहे हैं। दिन-रात कई गुरुद्वारा कमेटियां शंभू बॉर्डर पर लंगर लगाती रहती हैं।

यह भी पढ़े:-

किसान ने शुभकरण का शव पंजाब-हरियाणा दातासिहंवाला बॉर्डर पर लाया

किसान ने शुभकरण का शव पंजाब-हरियाणा दातासिहंवाला बॉर्डर पर लाया, किसान ने दी श्रृद्वांजलि यहां उपस्थित किसान नेताओं ने उनको श्रद्धांजलि दी। शुभकरण पुलिस और किसानों के संघर्ष में सिर में गोली लगी थी और इलाज के दौरान मर गया था। पुरा पढ़े

 

Spread the love
What does "money" mean to you?
  • Add your answer