Search
Close this search box.

नई दिल्ली: खरीद-फरोख्त के आरोपों की जांच में केजरीवाल के घर फिर पहुंची क्राइम ब्रांच की टीम {03-02-2024}

New Delhi: विधायक खरीद-फरोख्त के आरोपों की जांच करने के लिए फिर से केजरीवाल के घर पहुंची क्राइम ब्रांच की टीम

खरीद-फरोख्त

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच की एक टीम आज फिर से केजरीवाल के घर पहुंची है। दिल्ली पुलिस कल मुख्यमंत्री को नोटिस देने पहुंची थी, लेकिन वह नहीं आया. भाजपा पर विधायकों की खरीद-फरोख्त का आरोप लगाया गया था।

दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच की टीम, विधायकों की खरीद-फरोख्त की जांच के लिए फिर केजरीवाल के दरवाजे पर!

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच की टीम आज भी सीएम अरविंद केजरीवाल के सरकारी आवास पर नोटिस देने पहुंची है, जिसमें भाजपा पर विधायकों की खरीद-फरोख्त का आरोप लगाया गया है। क्राइम ब्रांच की टीम कल भी केजरीवाल के घर पहुंची थी।

दिल्ली पुलिस कल मुख्यमंत्री को ही नोटिस देने वाली थी, लेकिन वह नहीं आया, इसलिए अधिकारी नोटिस लेने की जिद करने लगे। दिल्ली पुलिस की टीम इसलिए वापस आई। दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच की एक टीम आज फिर से मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को नोटिस देने पहुंची है। दिल्ली पुलिस ने कहा कि सिर्फ मुख्यमंत्री को नोटिस मिलेगा। मुख्यमंत्री कार्यालय से एक सूत्र ने कहा कि वह नोटिस लेने को तैयार है। लेकिन सीएम ऑफिस में क्राइम ब्रांच के अधिकारी रिसीविंग नहीं कर रहे हैं। क्राइम ब्रांच का समूह केजरीवाल को ही सूचना देने का दावा करता है।

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच की टीम शुक्रवार शाम आतिशी के सरकारी आवास पर भी नोटिस देने पहुंची थी। आतिशी चंडीगढ़ में होने के कारण पुलिस ने भी उन्हें नोटिस नहीं भेजा। शनिवार को पुलिस फिर से नोटिस दे सकती है। पुलिस ने नोटिस में दोनों से भाजपा पर लगाए गए आरोपों के साक्ष्यों के अलावा अन्य विवरण मांगे हैं। साथ ही जांच में भाग लेने के लिए भी कहा गया है। केजरीवाल और आतिशी ने दावा किया कि भाजपा ने उनके सात विधायकों को खरीदने के लिए 25 से 25 करोड़ रुपये का लालच दिया।

यह था मुद्दा

27 जनवरी को केजरीवाल ने कहा कि उनके विधायकों को खरीदने का प्रयास किया जा रहा है। उन्हें बताया गया कि बीजेपी ने उनके विधायकों को पार्टी टिकट देने का लालच दिया है और 25 से 25 करोड़ रुपये का भी प्रस्ताव दिया है।
केजरीवाल ने एक्स पर जानकारी दी
केजरीवाल ने अपने पूर्व हैंडल पर लिखा, “कुछ दिन बाद केजरीवाल को गिरफ्तार कर लेंगे।” एमएलए को तोड़ देंगे। 21 सांसदों से बातचीत हुई है और वे अन्य लोगों से भी बातचीत कर रहे हैं। इसके बाद आम आदमी पार्टी की दिल्ली सरकार गिरा देंगे। आप भी आओ। 25 करोड़ रुपये देंगे और बीजेपी के टिकट पर चुनाव लड़वा देंगे।

वह कहते हैं कि उन्होंने 21 एमएलए से संपर्क किया है, लेकिन हमारी जानकारी के अनुसार, अभी तक उन्होंने सात एमएलए से संपर्क किया है और सभी ने उन्हें मना कर दिया है।

इसका अर्थ है कि मुझे शराब घोटाले की जांच के लिए नहीं गिरफ्तार कर रहे हैं, बल्कि दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार गिराने का षड्यंत्र कर रहे हैं। पिछले नौ वर्षों में उन्होंने हमारी सरकार गिराने के लिए कई योजनाएं बनाईं। लेकिन वे सफल नहीं हुए। भगवान और लोग हमेशा हमारे साथ थे। हमारे सभी एमएलए भी एकजुट हैं। ये लोग इस बार भी अपने नापाक इरादों में असफल रहेंगे।

ये लोग जानते हैं कि हमारी सरकार ने दिल्ली की जनता के लिए कितना कुछ किया है। हमने इनके बावजूद इतना काम किया है। दिल्लीवासी “आप” से बहुत प्यार करते हैं। इसलिए “आप” को चुनावों में पराजित करना उनके बस की बात नहीं है। यही कारण है कि वे एक फर्जी शराब घोटाले के नाम पर गिरफ्तार करके सरकार गिराना चाहते हैं।

यह भी पढ़े :-

ज्ञानवापी परिसर में व्यासजी के तहखाने में पूजा-पाठ की इजाजत दी गई

नेताओं ने ज्ञानवापी परिसर में व्यासजी तहखाने में जिला अदालत के आदेश पर भी प्रतिक्रिया दी है। AIMIM अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि यह निर्णय गलत है। ये वर्शिप एक्ट का स्पष्ट उल्लंघन है। पुरा पढ़े

Spread the love
What does "money" mean to you?
  • Add your answer