Search
Close this search box.

)”एम एम पब्लिक स्कूल के अध्यापक सुरेश कुमार और गाइड शुभनीत कौर को गवर्नर अवार्ड से सम्मानित किया गया है: उनका उद्यम, शिक्षा में समर्पण, और उत्कृष्टता की प्रतिष्ठा।”{6-10-2023}

“एम एम पब्लिक स्कूल के अध्यापक सुरेश कुमार और गाइड शुभनीत कौर को गवर्नर अवार्ड मिला!

करनाल रोड पर स्थित एम एम पब्लिक स्कूल असन्ध के अध्यापक सुरेश कुमार और छात्रा शुभनीत कौर को स्काउटिंग गतिविधियों के लिए हरियाणा के माननीय राज्यपाल श्री दत्तात्रेय बंडारू द्वारा गवर्नर अवार्ड से सम्मानित किया गया है।  एम एम पब्लिक स्कूल के अध्यापक सुरेश कुमार और गाइड शुभनीत कौर को हाल ही में गवर्नर अवार्ड से सम्मानित किया गया है।

एम एम पब्लिक स्कूल

इस उपलब्धि से ना सिर्फ स्कूल का नाम रोशन हुआ, बल्कि यह दिखाता है कि कितनी महत्वपूर्ण है शिक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्टता की पहचान। सुरेश सर और शुभनीत मैम को उनके समर्पण, प्रतिबद्धता और अद्वितीय योगदान के लिए दिल से बधाई। वे हमें यह बता रहे हैं कि अगर हम अपने कार्य में समर्पित रहते हैं, तो सम्मान और पहचान खुद ब खुद हमारे पास आती है।

स्काउट मास्टर सुरेश कुमार को 10 वर्षों से अधिक का समय हो गया है, जब से वह स्काउट गाइड गतिविधियों में लगातार भाग ले रहे हैं और उन्होंने इसके लिए सम्मान प्राप्त किया है। शुभनीत कौर को सर्वश्रेष्ठ गाइड चुना गया है।

एम एम पब्लिक स्कूल असन्ध में पहले भी विद्यालय के निर्देशक आर वी भारद्वाज को स्काउटिंग गतिविधियों में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने के लिए दो बार गवर्नर अवार्ड से सम्मानित किया गया है, और तीन छात्रों को राष्ट्रपति अवार्ड भी प्राप्त हुआ है।

स्काउट मास्टर सुरेश कुमार और शुभनीत कौर ने अवार्ड लेकर विद्यालय पहुंचते ही डायरेक्टर आर वी भारद्वाज और सभी अध्यापकों और बच्चों द्वारा जोरदार स्वागत किया गया। आर वी भारद्वाज ने बताया कि जब इंसान लगातार मेहनत करता है, तो उसका परिणाम अच्छा होता है। इसलिए सभी अध्यापकों और बच्चों को हमेशा प्रयासरत रहने का संदेश दिया।

एम एम पब्लिक स्कूल के अध्यापक सुरेश कुमार और गाइड शुभनीत कौर को गवर्नर अवार्ड मिला!” –

इस खुशी की खबर में, हमारे प्यारे शिक्षक सुरेश कुमार और उनकी मेंटर शुभनीत कौर को गवर्नर अवार्ड से सम्मानित किया गया है! यह उनके अद्भुत शिक्षा कौशल और नेतृत्व का परिणाम है, जो हमारे समुदाय के लिए अद्भुत है। हम उन्हें उनकी मेहनत और समर्पण के लिए सलाम करते हैं और इस उपलब्धि पर गर्व महसूस करते हैं। यह उनके लिए एक महत्वपूर्ण और गर्मी भरी पल है, और हम उनके साथ इस खुशी का संवाद साझा करने के लिए खुश हैं। बधाई हो|

स्काउट मास्टर सुरेश कुमार ने यह भी बताया कि हमें स्काउटिंग गतिविधियों में भाग लेना चाहिए, क्योंकि समाज में स्काउटिंग के माध्यम से अच्छे और सच्चे नागरिक पैदा किए जा सकते हैं।

जिला शिक्षा अधिकारी करनाल जिला संगठन आयुक्त सियाराम शास्त्री और करनाल की स्काउटिंग टीम ने हमें इस कार्य में बहुत सहयोग दिया है।

 

 

यह भी पढ़े

भारत के खेल परिदृश्य को बदलना {06-10-23}

  भारत की खेल यात्रा में उल्लेखनीय प्रगति के बावजूद ,दीर्घकालिक अल्पवित्तपोषण की

 

भारत की खेल यात्रा में उल्लेखनीय प्रगति के बावजूद, भारत की खेल प्रणाली को चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है, विशेषकर दीर्घकालिक अल्पवित्तपोषण की। लगभग ₹24 प्रति व्यक्ति के खेल बजट के बावजूद, यह यूरोपीय संघ के लगभग 100 यूरो या ₹8,000 प्रति व्यक्ति के औसत आवंटन की तुलना में कम है। इसे संबोधित करने के लिए, सरकार को कॉर्पोरेट सामाजिक जिम्मेदारी पहल के माध्यम से राष्ट्रीय खेल विकास कोष में निजी क्षेत्र के योगदान को बढ़ाना चाहिए। सफल एडॉप्ट ए हेरिटेज मॉडल के समान “एडॉप्ट ए स्टेडियम” कार्यक्रम जैसी योजनाएं पेश करने से 850सार्वजनिक-निजी भागीदारी के माध्यम से वित्त पोषण को बढ़ावा मिल सकता है।

दिलचस्प बात यह है कि ओडिशा, जो हॉकी और सामान्य तौर पर खेलों के प्रति अपने अटूट समर्थन के लिए जाना जाता है, के पास कोई समर्पित खेल नीति नहीं है। इसके बजाय, राज्य की एक व्यापक युवा नीति है जो युवा आबादी के लिए बड़े नीतिगत लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए खेल का रणनीतिक उपयोग करती है। इससे स्कूलों और कॉलेजों में खेल पाठ्यक्रम को एकीकृत करने में मदद मिली है और यह रोजमर्रा की जिंदगी का हिस्सा बन गया है। समग्र युवा विकास के लिए खेलों पर बढ़ते महत्व ने इसे रोजगार पैदा करने वाले उद्योग में बदलने में मदद की है।

rashtriyabharatmanisamachar

All Posts

Spread the love
What does "money" mean to you?
  • Add your answer

Recent Post