Search
Close this search box.

समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदी 25 मार्च से शुरू करेगी राज्य सरकार

भोपाल
राज्य सरकार इस साल 25 मार्च से समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदी शुरू करेगी। इस बार गेहूं का रकबा बढ़ने के कारण समर्थन मूल्य पर सौ लाख मीट्रिक टन से अधिक गेहूं खरीदी होने का अनुमान है। गेहूं खरीदी के लिए पंजीयन की अंतिम तिथि दो मार्च को समाप्त हो जाएगी। राज्य सरकार इस बार तीन हजार से अधिक खरीदी केन्द्रों पर समर्थन मूल्य के गेहूं की खरीदी 25 मार्च से शुरु करेगी। इस बार दो माह तक खरीदी होगी। इंदौर, उज्जैन, रीवा, सतना और जबलपुर संभाग में मार्कफेड खरीदी करेगा। वहीं भोपाल, होशंगाबाद, ग्वालियर, सागर, चंबल में नागरिक आपूर्ति निगम गेहूं की खरीदी करेगा। दो जिलों में नाफेड को समर्थन मूल्य पर खरीदी की जिम्मेदारी दी जाएगी। इस बार किसानो से 1925 रुपए समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदी की जाएगी। पिछल्ले साल 1840 रुपए क्विंटल की दर से खरीदी की गई थी।

प्रदेश में इस बार अच्छी बारिश होंने के कारण किसानों ने चने के स्थान पर गेहूं की ज्यादा बोनी की है। चने का रकबा तीस प्रतिशत घट गया है इसमें किसानों ने गेहूं की बोनी की है।इस बार प्रदेश में 105 लाख हेक्टेयर जमीन पर गेहूं की बोनी हुर्इं है। इसलिए समर्थन मूल्य पर इस बार अधिक गेहूं आने का अनुमान है। पिछले साल 73 लाख मीट्रिक टन गेहूं की खरीदी हुई थी। इस बार यह खरीदी सौ लाख मीट्रिक टन से अधिक होंने की संभावना है।

इस बार समर्थन मूल्य पर गेहू ंखरीदी के लिए एक हजार करोड़ के बारदाने खरीदे जा रहे है। इसमें तीन लाख टन जूट के बारदाने और डेढ़ लाख गठान प्लास्टिक की बोरियों की गठाने खरीदी जा रही है।

इस बार समर्थन मूल्य पर गेहूं बेचने के लिए किसानों ने ज्यादा रुचि दिखाई जहै। पिछले साल चालीस हजार किसानों ने गेहूं बेचने के लिए आॅनलाइन पंजीयन कराया था। इस साल अभी तक एक लाख बीस हजार किसान आॅनलाइन पंजीयन करा चुके है।  अभी दो मार्च तक पंजीयन कराया जा सकता है।

Spread the love
What does "money" mean to you?
  • Add your answer

Recent Post