Search
Close this search box.

सरकार व प्रशासन बस अड्डा राजौंद की सुध लें*

  1.  

    *सरकार व प्रशासन बस अड्डा राजौंद की सुध लें

    सुबह दस बजे तक नहीं पहुंचा बस ‘अड्डा इंचार्ज’, दूसरा अड्डा इंचार्ज लम्बी मेडिकली पर बताया गया

    सरकारी बस चालक-परिचालकों ने कमरे पर बताया कि लंबे समय से अड्डा इंचार्ज राजौंद के दर्शन नहीं हो पा रहे हैं व्यवस्था रामभरोसे

    सुबह 10:00 बजे पंखे चलते हुए मिले- सफाई कर्मचारी ने कैमरे को देख आनन-फानन में पंखें बंद किए

    इस व्यवस्था पर जानकारी लेने के लिए
    टीएम (टाइम इंचार्ज) हरियाणा परिवहन कैथल को सुबह दस बजे के बाद दो बार फोन किया गया फोन बंद मिला।

    जीएम (जनरल मैनेजर हरियाणा राज्य परिवहन) कैथल को सुबह दस बजे के बाद फोन किया गया, घंटी बजती रही लेकिन फोन नहीं उठाया गया।

    राज्यमंत्री श्रीमती कमलेश डांडा व उपायुक्त कैथल से प्रार्थना है कि जनहित में राजौंद बस अड्डे की व्यवस्था में सुधार करवाएं।

    कुछ गैर जिम्मेदार कर्मचारी सरकार-प्रशासन की छवि को धूमिल कर रहे हैं इन कर्मचारियों पर उचित कार्यवाही होनी चाहिए व उनको, उनकी ड्यूटी की अनिवार्यता बताई जानी आवश्यक है।

    यहां पर जिम्मेदार अड्डा इंचार्ज व अन्य योग्य कर्मियों की नियुक्ति होनी चाहिए।

    बस अड्डा राजौंद पर 10-12 साल से खड़े हुए डंपर को यहां से हटवाया जाएं।

    बहुत ही हैरानी की बात है कि पिछले 10 से 12 सालों से एक डम्पर बस अड्डा राजौंद पर खड़ा हुआ धूल फांक रहा है।

    बताया जा रहा है कि इस डंपर का चालान काटकर यहां पर खड़ा कर दिया था। चालान/ जुर्माने की राशि इतनी बड़ी थी कि डंपर मालिक ने इसे नहीं छुड़वाया और यह डंपर बस अड्डा राजौद में खड़ा- खड़ा कंडम हो गया है।

Spread the love
What does "money" mean to you?
  • Add your answer