Search
Close this search box.

मनोहर सरकार को 9 साल: हरियाणा के नौ बड़े तोहफे {27-10-2023}

मनोहर सरकार को नौ साल: प्रधानमंत्री के हाथों हुई नौ सबसे बड़ी सौगातें:-

मनोहर सरकार को नौ साल: नौ बड़ी सौगातें, कहीं एयरपोर्ट बना तो कहीं खुला मेडिकल कॉलेज अंबाला-दिल्ली राष्ट्रीय राजमार्ग पर 22 एकड़ में 1857 के शहीदों की याद में शहीद स्मारक का निर्माण किया जा रहा है। लगभग 539.39 करोड़ रुपये से बन रहे इस प्रोजेक्ट का 90 प्रतिशत कार्य पूरा हो चुका है और 2024 के आरंभ में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों इसका उद्घाटन कराने की तैयारी है। फिलहाल इसमें आर्ट वर्क का काम चल रहा है। शहीद स्मारक का निर्माण कार्य वर्ष 2021 में शुरू हुआ था।

मनोहर सरकार
मनोहर सरकार को नौ साल: प्रधानमंत्री के हाथों हुई नौ सबसे बड़ी सौगातें:

हिसार: अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा की तैयारी – नौ साल की सरकार का महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट:-

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल की सरकार के कार्यकाल में प्रदेश की जनता को कई सौगातें मिली हैं या मिलने की नींव रखी दी गई है। इन सौगातों ने लोगों के जनजीवन पर काफी असर डाला है। इनमें से कई सौगातें बहुप्रतीक्षित थीं।

नौ साल की सरकार का महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट
हिसार: अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा

एक नजर डालते हैं ऐसी नौ बड़ी सौगातों पर… हिसार: अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा तैयार, जल्द उड़ान हिसार में एयरपोर्ट की मांग कई सालों से चल रही थी, जो पूरी हुई मनोहर सरकार के दूसरे कार्यकाल में। हिसार का महाराजा अग्रसेन अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा नौ साल में सरकार का सबसे बड़ा प्रोजेक्ट है। हवाई अड्डे के दूसरे चरण के निर्माण के लिए सरकार ने 946 करोड़ रुपये का बजट मंजूर किया है।

इस धनराशि को अगले तीन साल तक हवाई अड्डे के निर्माण कार्यों को पूरा करने के लिए खर्च किया जाएगा। यात्री लाइन के अलावा कार्गो रेलवे लाइन का निर्माण भी होना है। हवाई अड्डे के निर्माण के लिए 7200 एकड़ जमीन की व्यवस्था की गई है। 10 हजार फुट लंबी हवाई पट्टी बनाने का काम 90 प्रतिशत तक पूरा हो चुका है। मार्च 2024 से पहले यहां उड़ान शुरू करने की तैयारी है।

करनाल: कल्पना चावला मेडिकल कॉलेज का उद्घाटन:-

करनाल: कल्पना चावला मेडिकल कॉलेज सीएम सिटी कर्णनगरी को पिछले नौ साल में सबसे बड़ी सौगात कल्पना चावला मेडिकल कॉलेज की मिली। इसका उद्घाटन मुख्यमंत्री ने वैसाखी के दिन 13 अप्रैल 2017 को किया था। यह देश की सबसे बड़े ओपीडी वाले मेडिकल कॉलेजों में शुमार है।

कल्पना चावला मेडिकल कॉलेज का उद्घाटन
करनाल: कल्पना चावला मेडिकल कॉलेज का उद्घाटन

50 एकड़ क्षेत्र में यह मेडिकल कॉलेज 646 करोड़ रुपये से बनकर तैयार हुआ था। 650 बेड की क्षमता वाले मेडिकल कॉलेज का अभी पहला फेज बना है। दूसरे चरण में पांच मंजिला ट्रामा सेंटर, अस्पताल भवन, परीक्षा हॉल, स्किल लैब, सिंगल बेसमेंट पार्किंग, आठ मंजिला छात्रावास, प्रोफेसर क्वार्टर, सामुदायिक भवन, एनिमल हाउस, बॉयोमेडिकल वेस्ट प्लांट और एयर एंबुलेंस की सुविधा मिलेगी।

रोहतक: एलिवेटेड रेलवे ट्रैक से जुड़ी सौगात:-

एलिवेटेड रेलवे ट्रैक

रोहतक: मेट्रो की तर्ज पर बना एलिवेटेड रेलवे ट्रैक रोहतक में एलिवेटेड रेलवे ट्रैक बनने से शहर के लोगों को पांच रेल फाटक से मुक्ति मिली है। 315 करोड़ रुपये का यह प्रोजेक्ट साल 2018 में शुरू और 2022 में पूरा हुआ। अक्तूबर 2022 में देश के गृह मंत्री अमित शाह ने इसका ऑनलाइन उद्घाटन किया था।

इस ट्रैक के बनने के बाद से रोहतक में बजरंग भवन, सोनीपत रोड, बस स्टैंड रोड, चिन्नोट कॉलोनी, सेक्टर छह की क्रॉसिंग पर अब जाम नहीं लगता। पांच किलोमीटर लंबी रेलवे लाइन के उखाड़कर अब सड़क बनाई जानी है।

पानीपत: डाहर सहकारी चीनी मिल की महत्वपूर्ण भूमिका:-

पानीपत: डाहर सहकारी चीनी मिल पानीपत में डाहर गांव स्थित सहकारी चीनी मिल सरकार की बड़ी सौगातों में शामिल है। यह प्रदेश की पहली आधुनिक और बड़ी चीनी मिल है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने अक्तूबर 2015 में इस मिल का शिलान्यास किया था और मई 2022 को इसका उद्घाटन किया गया।

: डाहर सहकारी चीनी
पानीपत: डाहर सहकारी चीनी मिल

करीब 89 एकड़ में बनी मिल के निर्माण पर 350 करोड़ रुपये की लागत आई है। मिल की गन्ना पेराई क्षमता प्रति माह करीब 58 हजार क्विंटल है। इस चीनी मिल में एथेनॉल प्लांट और डिस्टलरी के टेंडर की प्रक्रिया चल रही है।

यह भी देखे

अंबाला: शहीद स्मारक का निर्माण:-

अंबाला: 1857 के शहीदों की याद में बन रहा स्मारक अंबाला-दिल्ली राष्ट्रीय राजमार्ग पर 22 एकड़ में 1857 के शहीदों की याद में शहीद स्मारक का निर्माण किया जा रहा है। लगभग 539.39 करोड़ रुपये से बन रहे इस प्रोजेक्ट का 90 प्रतिशत कार्य पूरा हो चुका है और 2024 के आरंभ में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों इसका उद्घाटन कराने की तैयारी है।

फिलहाल इसमें आर्ट वर्क का काम चल रहा है। शहीद स्मारक का निर्माण कार्य वर्ष 2021 में शुरू हुआ था। माना जा रहा है कि यह देश के चुनिंदा शहीद स्मारकों में से एक होगा और पर्यटन के लिहाज से भी काफी अहम होगा। सोनीपत: पहले महानगर और फिर कमिश्नरी का दर्जा सोनीपत को मनोहर सरकार ने कई सौगातें दी हैं। पहले सोनीपत को महानगर बनाया गया और फिर कमिश्नरेट का दर्जा दिया गया।

सोनीपत: नगर निगम से कमिशनरी का दर्जा:-

सोनीपत को नगर निगम और उपमंडल कुंडली को नगर पालिका का दर्जा मिला। इसके अलावा गोहाना को नया जिला बनाने की चर्चा चल रही है। कुंडली-मानेसर-पलवल (केएमपी) एक्सप्रेस-वे की सौगात भी मनोहर सरकार में मिली। केएमपी का शिलान्यास पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला सरकार में और इसका काम पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र हुड्डा की सरकार ने शुरू हुआ लेकिन निर्माण कार्य मनोहर लाल सरकार में पूरा हो सका।

चरखी दादरी: नया जिला का गठन:-

चरखी दादरी: प्रदेश का 22वां जिला मनोहर सरकार ने अपने पहले कार्यकाल में 18 सितंबर 2016 में चरखी दादरी को भिवानी से अलग करके प्रदेश का 22वां जिला बनाने की घोषणा की। 18 अक्तूबर, 2016 को हरियाणा मंत्रिमंडल की बैठक में चरखी दादरी को जिला बनाए जाने संबंधी प्रस्ताव पर मुहर लगा दी गई।

नया जिला का गठन
चरखी दादरी: नया जिला का गठन

जिला बनने से पहले चरखी दादरी हरियाणा का सबसे बड़ा उपमंडल था। जिले में करीब 72 करोड़ की लागत से नए लघु सचिवालय का निर्माण होना है। फिलहाल काम दूसरी मंजिल तक पहुंच चुका है और अगले पांच माह के अंदर सचिवालय का निर्माण पूरा हो जाएगा। इसका फायदा ये होगा कि सभी विभागों के अधिकारी एक ही छत के नीचे बैठने लगेंगे।

कुरुक्षेत्र: स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार:-

कुरुक्षेत्र: एलिवेटेड रेलवे ट्रैक हरियाणा रेल इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट कारपोरेशन की ओर से प्रदेश और केंद्र सरकार की इस संयुक्त परियोजना का शिलान्यास मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने 22 अगस्त 2019 को किया था। करीब 245.99 करोड़ रुपये की इस परियोजना में प्रदेश सरकार 136.45 करोड़ और केंद्रीय रेलवे विभाग की ओर से 109.54 करोड़ रुपये का बजट तय किया गया था। प्रदेश सरकार की यह महत्वाकांक्षी ड्रीम परियोजना करीब 80 फीसदी पूरी हो चुकी है।

स्वास्थ्य सेवाओं में
कुरुक्षेत्र: स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार

अगले छह माह तक इसका कार्य पूरा होने की उम्मीद जताई जा रही है। यह परियोजना पूरी होने पर धर्मनगरी को पांच रेल फाटकों से छुटकारा मिल पाएगा। हर जिले में मेडिकल कॉलेज हरियाणा सरकार ने स्वास्थ्य क्षेत्र में पूरा फोकस रखा है। पिछले नौ सालों में एमबीबीएस की सीटें 700 से बढ़कर जहां 2185 हो गई हैं, वहीं पीजी (स्नातकोत्तर) की सीटें 289 से बढ़कर 851 हो गई हैं।

प्रदेश में इस समय पांच नए मेडिकल कॉलेज और पांच नए नर्सिंग कॉलेज का निर्माण हो रहा है। स्वास्थ्य बजट 2800 करोड़ रुपये से बढ़कर 9647 करोड़ रुपये पर पहुंच गया है। हर जिले में मेडिकल कॉलेज खोलने के लक्ष्य की कड़ी में प्रदेश में मेडिकल कॉलेज की संख्या 15 हो गई है। इनमें से नौ मेडिकल कॉलेज मनोहर लाल के कार्यकाल में खुले हैं।

 

  यह भी पढ़े:-

हरियाणा: पीएमश्री योजना का शुभारंभ {26-10-2023}

Spread the love
What does "money" mean to you?
  • Add your answer